अनिल सिंह तीसरी बार बने एडिशनल सॉलिसीटर जनरल

– यह गौरव हासिल करने वाले पहले अधिवक्ता  

– कई अहम मामलों की कर चुके हैं पैरवी  

मुंबई. बॉम्बे हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अनिल सिंह को लगातार तीसरी बार एडिशनल  सॉलिसीटर जनरल (एएसजी) नियुक्ति किया गया है.यह उपलब्धि हासिल करने वाले सिंह हाईकोर्ट के पहले अधिवक्ता बन गए हैं. 30 जून 2020 को उनका बतौर एएसजी  दूसरा कार्यकाल पूरा हो रहा था. प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में काम करने वाली नियुक्ति कमेटी ने एक बार फिर एएसजी के रुप में सिंह की नियुक्ति को मंजूरी प्रदान कर दी हैं. 

एएसजी से पहले सिंह बार काउंसिल ऑफ महाराष्ट्र एंड गोवा के चेयरमैन भी रह चुके हैं.इसके अलावा वे 6 महीने तक महाराष्ट्र के महाधिवक्ता का भी प्रभार संभाल चुके हैं.बतौर एएसजी सिंह ने केंद्र सरकार की ओर से कई महत्वपूर्ण और संवेदनशील मामलों की पैरवी की है. जिसमें सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर व गोविंद पानसरे की हत्या, रेरा कानून की वैधता,यस व पीएमसी बैंक (राकेश वधावन) घोटाला, न्यायाधीश लोया केस,  2008 का मालेगांव बम धमाका, मैगी प्रतिबंध, शीना बोरा हत्याकांड, सोहराबुद्दीन मुठभेड़ केस, बुलेट ट्रेन,कोस्टल रोड व मेट्रो ट्रेन से समेत कई मामले शामिल हैं.