BMC allows opening of electronic and hardware shops of the locality

  • महाडेश्वर और शिरसाट की स्थायी समिति में वापसी

मुंबई. मनपा की 4 वैधानिक स्थायी, बेस्ट, सुधार और शिक्षण समितियों के सदस्यों के नामों की घोषणा ऑनलाइन बैठक में सोमवार को महापौर किशोरी  पेडणेकर ने कर दी. मनपा की सबसे महत्वपूर्ण स्थायी समिति में पूर्व महापौर विश्वनाथ महाड़ेश्वर को शिवसेना ने सदस्य बनाया, वहीं भाजपा की ओर से मनोनीत नगरसेवक भालचन्द्र शिरसाट को मौका दिया गया है. भाजपा ने शिरसाट को मनपा में भेजने के लिए अभी 8 माह पूर्व अपने मनोनीत सदस्य का इस्तीफा लेकर उन्हें भेजा था. शिरसाट को मनपा के एक विशेषज्ञ के रूप में माना जाता है, लेकिन मनोनीत नगरसेवक होने के नाते उनको वोटिंग का अधिकार नहीं रहेगा. स्थायी समिति में शिवसेना के 12 और बीजेपी के 10 सदस्य थे, लेकिन अब बीजेपी को वोटिंग करते समय 1 वोट कम हो जाएगा.

समिति सदस्यों की घोषणा के साथ ही समिति के अध्यक्षों का चुनाव 5 अक्टूबर से शुरु हो जाएगा. पूर्व महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर को शिवसेना ने स्थायी समिति का सदस्य नियुक्त किया है. बीजेपी ने भालचंद्र शिरसाट को स्थायी समिति में भेजा है. समिति अध्यक्ष पद के लिए 30 सितंबर शाम 5 बजे तक मनपा सचिव संगीता शर्मा के पास नामांकन भरना है. शिक्षा समिति के 11, स्थायी समिति के 13, सुधार समिति के 13 और बेस्ट समिति के सदस्यों के नाम महापौर किशोरी पेडणेकर ने घोषित किया.

बीएमसी की 4 वैधानिक और 6 विशेष समितियां

बीएमसी की 4 वैधानिक और 6 विशेष समितियां हैं. 5 अक्टूबर को शिक्षा और स्थायी समिति, 6 अक्टूबर को बेस्ट व सुधार समिति, 7 अक्टूबर को स्थापत्य समिति शहर और उपनगर, 8 अक्टूबर को सार्वजनिक स्वास्थ्य समिति व बाजार उद्यान समिति, 9 अक्टूबर को विधि व महिला बाल कल्याण समिति और 14 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक 17 प्रभाग समितियों का चुनाव कराया जाएगा. इस बार का चुनावी घमासान बीजेपी बनाम शिवसेना होने वाला है, लेकिन कांग्रेस ने भी इन चुनावों में वायरस पक्ष के तौर पर अपना उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है. इससे समिति उम्मीदवारों के बीच कांटे का मुकाबला देखने को मिल सकता है.

वीडियो कॉंफ्रेंसिग से होगा चुनाव 

 समितियों का चुनाव अप्रैल महीने में होने वाला था लेकिन कोरोना वायरस के कारण टल गया था. राज्य सरकार की अनुमति मिलने के बाद चुनावी प्रकिया की शुरुआत हो रही है. राज्य सरकार ने मनपा समिति चुनाव वीडियो कॉंफ्रेंसिग से कराने का निर्देश दिया है, लेकिन वह संभव नही हो पा रहा है. महापौर ने सभी पार्टी नेताओं की बैठक कर राज्य सरकार से मनपा सदन में समितियों के अध्यक्ष का चुनाव कराने की गुहार लगाने की बात कही. बुधवार को तय होगा कि स्थायी समिति का अध्यक्ष बुधवार को मनपा की स्थायी समिति, शिक्षा समिति, सहित बेस्ट और सुधार के अध्यक्ष पद को लेकर नामांकन किया जाएगा. शिवसेना में दो साल से अध्यक्ष रहे यशवंत जाधव को लेकर शिवसेना में ही अंदरुनी विरोध चल रहा है.  कहा तो यहां तक जा रहा है कि मातोश्री से उनका इस्तीफा ले लिया गया है. अब बुधवार को पर्चा दाख़िल करने तक देखना होगा किसे उम्मीदवारी मिलती है. पूर्व महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर को वापस स्थायी समिति में लाने से कयास लगाया जा रहा है कि वे यशवंत जाधव का स्थान ले सकते हैं.

कांग्रेस ने बनाया मुकाबले को दिलचस्प

कांग्रेस ने पिछले 3 साल चुनाव में नहीं उतरने के बाद, इस बार उतरकर समिति के अध्यक्ष पद के चुनाव को दिलचस्प बना दिया है. सूत्रों की माने तो भाजपा भी कोई बड़ा उलटफेर करने की तैयारी में है. मनपा समितियों का चुनाव मनपा सदन में हो और मनपा सदन की बैठक माटुंगा स्थित षणमुखानंद हाल अथवा पुराने विधान भवन में कराने की मांग की गई. मनपा विरोधी पक्ष नेता रवि राजा सहित मनपा सदन की नेता विशाखा राउत, भाजपा नेता प्रभाकर शिंदे और समाजवादी नेता रईस शेख ने वीडियो कांफ्रेंसिग में आवाज नहीं आने का आरोप लगाया. शिवसेना नेता विशाखा राउत द्वारा भी समर्थन मिलने पर सदस्यों को पूरा बल मिल गया कि बैठक वीडियो कांफ्रेंसिग से नहीं की जा सकती. महापौर ने खुद माना की पिछली बैठक में मात्र 137 सदस्य जुड़े थे, जबकि इस बार 187 जुड़ पाए थे जबकि मनपा में कुल 127 सदस्य और 5 मनोनीत सदस्य को लेकर कुल 132 हो जाते है.

स्थायी समिति में बीजेपी कमजोर

बीजेपी ने स्थायी समिति में शिरसाट को सदस्य के तौर पर नियुक्त किया है. लेकिन शिरसाट के लाने से वोटिंग में बीजेपी शिवसेना के सामने कमजोर साबित होगी. बीएमसी में  बीजेपी पार्टी नेता विनोद मिश्रा की छवि तेज तर्रार नेता की है. पार्टी नेता होने के कारण उन्हें स्थायी समिति में स्थान मिलना चाहिए था, लेकिन उन्हें सुधार समिति में पूर्ववत रखा गया है.