corona

मुंबई. मुंबई में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के बाद लॉकडाउन के समय अतिआवश्यक सेवा के कर्मचारियों के लिए बेस्ट सहारा बनी थी. अतिआवश्यक सेवा देते हुए बेस्ट कर्मचारी भी कोरोना के संक्रमण से बच नहीं सके. अब तक बेस्ट के 2225 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हुए हैं जिसमें से 35 की मौत हो गई है. 2005 कर्मचारी कोरोना को परास्त कर वापस अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं.

 मार्च में लॉकडाउन के समय से जब मुंबई की सभी यातायात सेवाएं ठप थी. बेस्ट लगातार लोगों को उनके ड्यूटी पर लाने ले जाने में तत्पर थी. 5 महीने बाद मिशन बिगेन अगेन के तहत अनलॉक शुरु हुआ तो बेस्ट में आम जनता को भी सफर करने की अनुमति दी गई. इससे बेस्ट में भीड़ बढ़ गई है. कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आकर बेस्ट के ड्राइवर और कंडक्टर भी कोरोना से संक्रमित होने लगे. अब तक 2225 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हुए हैं. अप्रैल में 40 कर्मचारी संक्रमित हुए थे. सबसे ज्यादा जुलाई में 783 कर्मचारियों को कोरोना हुआ जिसमें से 661  कोरोना को मात देने में सफल रहे.  

बेस्ट परिवहन विभाग के 1,347 कर्मचारी संक्रमित हुए हैं. बिजली विभाग के 313, इंजीनियरिंग विभाग के 244 और 100 कर्मचारी अन्य विभाग से हैं.