मुंबईकरों को बड़ी राहत, इस वर्ष नहीं बढ़ेगा प्रॉपर्टी टैक्स

  • हर 5 साल में बढाया जाता था 8% प्रापर्टी टैक्स

मुंबई. कोरोना महामारी से जूझ रहे मुंबईकरों के लिए बीएमसी ने थोड़ी राहत दी है. बीएमसी ने वर्ष 2020-21 में बढ़ने वाले प्रॉपर्टी टैक्स को एक साल के लिए टाल दिया है. अब प्रापर्टी टैक्स में अगले आर्थिक वर्ष में बढ़ोत्तरी की जाएगी. कोरोना संकट से परेशान मुंबईकरों को राहत देने के लिए बीएमसी ने यह कदम उठाया है. अगले टैक्स में 17 प्रतिशत की वृद्धि की जाएगी.  

बीएमसी प्रशासन ने कोरोना काल में आम जनता को सेवा सुविधा में किसी तरह की कमी न आए इसके लिए बैंकों में रखे फिक्स डिपॉजिट तोड़ दिया है. इसी तरह कोरोना महामारी से जूझ रहे मुंबईकरों पर टैक्स का भार इस साल न पड़े इसलिए प्रॉपर्टी टैक्स में हर पांच साल में की जाने वाली बढ़ोत्तरी को एक साल के लिए टाल दिया है. प्रॉपर्टी टैक्स बीएमसी की कमाई का मुख्य श्रोत रहा है. मनपा को हर साल लगभग साढ़े पांच  हजार करोड़ कमाई प्रॉपर्टी टैक्स से होती है. टैक्स दर बढ़ोत्तरी होने से कमाई बढ़ती है, लेकिन इस साल लोगोंं की समस्याओं को देखते हुए मनपा ने इस साल टैक्स में किसी तरह की बढ़ोत्तरी न करने का कदम उठाया है. प्रॉपर्टी टैक्स में हर पांच साल में 8 प्रतिशत की वृद्धि की जाती है. वृद्धि नहीं होने से गत वर्ष के अनुसार टैक्स का भुगतान करना होगा. 

शहर में कुल 4.20 लाख हजार प्रॉपर्टी

मुंबई  में कुल 4 लाख 20 हजार प्रॉपर्टी जिसमेंं से 1 लाख 37 हजार घर 500 वर्ग फुट से कम के हैंं. राज्य सरकार 500 वर्ग फुट से छोटे घरोंं को प्रॉपर्टी टैक्स में पूरी तरह से छूट देने का निर्णय लिया है. टैक्स दर न बढ़ाने का फायदा अब बकाया 2 लाख 83 हजार मकान मालिकोंं को मिलेगा. पिछले साल साढ़े पांच हजार प्रॉपर्टी टैक्स से कमाई होने की संभावना थी लेकिन लॉकडाउन लगने से पहले 18 मार्च तक मनपा की तिजोरी में मात्र 4 हजार करोड़ रुपया ही जमा हो पाया था. बीएमसी ने टार्गेट पूरा करने के पूरा जोर लगाया ही था कि बीच 25 मार्च से पूरे देश मेंं किए गए लॉकडाउन ने मनपा के मंसूबो पर पानी फेर दिया. मनपा इस साल छूट देने का निर्णय लिया है अब अगले साल लोगोंं को 17 प्रतिशत अधिक की दर से प्रॉपर्टी टैक्स का भुगतान करना पड़ेगा.