BJP leader Pankaja Munde infected with Corona virus
File

    मुंबई. मराठा आरक्षण को लेकर शुरु आंदोलन के बीच भाजपा (BJP) ने ओबीसी समाज का राजनीतिक आरक्षण रद्द होने को लेकर आक्रामक भूमिका अख्तियार की है। इस संदर्भ में शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री एवं विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) की मौजूदगी में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई जिसमें 26 जून को राज्यव्यापी चक्काजाम आंदोलन का निर्णय लिया गया।

     भाजपा की राष्ट्रीय सचिव पंकजा मुंडे (Pankaja Munde) ने ओबीसी आरक्षण रद्द होने के लिए महाविकास आघाड़ी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि ओबीसी का राजनीतिक आरक्षण सुरक्षित रखने के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस एवं राज्य सरकार के सभी मंत्री सक्रिय थे, लेकिन आज ओबीसी के समक्ष संकट खड़ा हुआ है। समाज के साथ जो अन्याय हुआ है उसको दूर करने एवं  इम्पेरिकल डेटा तैयार करके ओबीसी को आरक्षण दिलाये बगैर राज्य में कोई चुनाव होने नहीं दिया जाएगा। 

    1000 स्थानों पर चक्का जाम किया जाएगा

    इस मुद्दे पर 26 जून को पूरे महाराष्ट्र में चक्काजाम कर ओबीसी का रोष सड़क पर लाने का काम किया जाएगा।  उन्होंने कहा कि आज हम सत्ता में नहीं विपक्ष में हैं।विपक्ष का काम सरकार की खामियों को बाहर लाना होता है, लेकिन सरकार के मंत्री आंदोलन की बात कर रहे हैं।पार्टी महासचिव एवं पूर्व मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा कि राज्य में 1000 स्थानों पर चक्का जाम किया जाएगा। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सागर बंगले में हुई ओबीसी नेताओं की बैठक में प्रमुख रूप से पंकजा मुंडे, चंद्रशेखर बावनकुले, गिरीश महाजन, सांसद रक्षाताई खडसे, अतुल सावे, डॉ। संजय कुटे, मनीषा चौधरी, जयकुमार गोरे, ओबीसी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष योगेश टिलेकर, पार्टी उपाध्यक्ष चित्रा वाघ सहित अन्य लोग उपस्थित थे।