अडानी कंपनी कार्यालय पर बीजेपी का हल्लाबोल

– भातखलकर के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन 

– बढ़ा हुआ बिल वापस करने की मांग

मुंबई. वैश्विक महामारी कोरोना संकट के दौरान बिजली कंपनियों की तरफ से मनमाना बिल भेजे जाने से आम नागरिक परेशान हैं. 300 यूनिट तक बिजली का बिल माफ करने की मांग एवं बढ़े हुए बिजली बिल के खिलाफ बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने विधायक अतुल भातखलकर के नेतृत्व में अडानी बिजली आपूर्ति कंपनी कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया एवं प्रबंधन को ज्ञापन दिया.

300 यूनिट तक की बिजली बिल माफ किया जाय

विधायक एवं महाराष्ट्र बीजेपी के प्रवक्ता अतुल भातखलकर ने कहा कि सरकार  राज्य विद्युत नियामक कानून की धारा 4 का उपयोग कर राज्य के सभी बिजली के बिलों पर रोक लगा सकती है. उन्होंने सरकार से मांग की है कि सभी बिलों पर रोक लगाने के साथ ही 300 यूनिट तक की बिजली बिल माफ किया जाय. भातखलकर ने कहा कि औसत बिल के नाम पर भारी भरकम बिल घरेलू ग्राहकों एवं छोटे-मोटे उद्योग करने वालों को भेजा गया है.

…तो बिजली कंपनियों के खिलाफ तीव्र आंदोलन 

भातखलकर ने कहा कि यदि मांगे नहीं मानी गई तो बिजली कंपनियों के खिलाफ तीव्र आंदोलन किया जाएगा. इस अवसर पर बीजेपी पदाधिकारी एवं पूर्व नगरसेवक एड.ज्ञानमूर्ति शर्मा ने कहा कि जो कंपनी और घर 3 माह से बंद हैं उन्हें भी भारी भरकम बिजली का बिल भेजा गया है.नगरसेवक शिवकुमार झा ने कहा कि 3 माह का इकट्ठा बिल भेज कर गरीब नागरिकों और मुश्किल में डालने का काम किया गया है. आंदोलन में नगरसेविका सुनीता रामनगीना यादव, दक्षा शाह,संगीता ज्ञानमूर्ति शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी व बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल थे.