बिहार चुनाव के लिए बीजेपी ने महाराष्ट्र को किया बदनाम

  • कांग्रेस नेता सावंत का हमला
  • बिहार के डीजीपी पांडेय ने लिया वीआरएस
  • विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी

मुंबई. प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने आरोप लगाया है कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने महाराष्ट्र को बदनाम किया है. उनका यह बयान बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय द्वारा वीआरएस लेने के बाद आया है. ऐसी पूरी संभावना है कि वीआरएस लेने के बाद पांडेय बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे. 

कांग्रेस प्रवक्ता सावंत ने कहा है कि बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मामले में बीजेपी ने डीजीपी पांडेय का इस्तेमाल किया है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र को राष्ट्रीय स्तर पर बदनाम करने के लिए बीजेपी की ये बड़ी गंदी साजिश थी. सावंत ने कहा कि अब इनाम के रूप में पांडेय को विधानसभा चुनाव में टिकट देने की तैयारी चल रही है.

सुशांत से नहीं थी सहानभूति

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सावंत ने कहा कि बीजेपी को एक्टर सुशांत की मौत को लेकर किसी तरह की कोई  सहानभूति नहीं थी. बीजेपी ने इस मौके का इस्तेमाल बिहार चुनाव व उत्तर प्रदेश में नई फिल्म सिटी खोलने के लिए किया है.

शिवसेना ने भी साधा निशाना

बिहार के डीजीपी पांडे के विधानसभा चुनाव लड़ने की संभावनाओं को लेकर शिवसेना ने भी निशाना साधा है. शिवसेना प्रवक्ता व राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि यदि किसी को राजनीति करनी है तो उन्हें खुलकर करनी चाहिए, न कि गुप्त तरीके से. किसी की दुर्भाग्यपूर्ण मौत से अपने अभियान की शुरुआत करना बहुत दुखदाई भी है और दुर्भाग्यपूर्ण भी. प्रियंका ने डीजीपी पांडेय का नाम लिए बिना कहा कि भगवान आपको सफलता से पहले सदबुद्धि दे, यही मनोकामना है.

सुशांत की मौत पर डीजीपी ने उठाई थी आवाज

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर बिहार के डीजीपी पांडेय ने महाराष्ट्र सरकार व मुंबई पुलिस पर कड़ा हमला बोला था. उन्होंने इस मामले में मुंबई पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए एक्टर की मौत को एक साजिश बताया था. पांडेय ने सुशांत और उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियन की मौत के बीच कनेक्शन होने की भी बात कही थी. सुशांत बिहार के रहने वाले थे. ऐसे में अब विरोधी दलों का आरोप है कि अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत के लिए पांडेय ने एक्टर की मौत के मामले को कैश करने की कोशिश की है.