Video: 'No river in Mumbai to hide corona deaths': Mumbai Mayor
Photo: ANI (File)

    मुंबई. कांदिवली (Kandivali) के हीरानंदानी हेरिटेज सोसायटी (Hiranandani Heritage Society) हुए फर्जी टीकाकरण (Fake Vaccination) के मामले में बीएमसी (BMC) ने सीरम इंस्टिट्यूट (Serum Institute) को पत्र लिख कर जानकारी मांगी है कि क्या वह आपकी वैक्सीन है? महापौर किशोरी पेडणेकर  (Mayor Kishori Pednekar) ने कहा कि कांदिवली की घटना के बाद बीएमसी कर्मचारी वैक्सीनेशन सेंटर पर जा कर जांच पड़ताल कर रहे हैं।  

    फर्जी टीकाकरण मामले में ऐक्शन में आई बीएमसी यह जानना चाहती है कि टीके असली थे या नकली।  पेडणेकर ने कहा कि कोविशील्ड टीका बनाने वाली कंपनी सीरम से पूरी जानकारी मांगी गई है।उपायुक्त विश्वास शंकरवार ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि टीकाकरण फर्जी तरीके से किया है। बीएमसी ने सीरम को कांदिवली में हुए फर्जी टीकाकरण शिविर में लगाई गई वैक्सीन के वाईल्ड नंबर्स भी भेजे हैं। इससे पता चलेगा कि इन नंबरों से वैक्सीन बनी भी है या नहीं। यदि वैक्सीन सही है तो इसे किस अस्पताल से अवैध वैक्सीनेशन शिविर तक पहुंचाई गई।

    तीसरी लहर ढाएगी कहर

    पेडणेकर ने मुंबईकरों को चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना की तीसरी लहर कहर ढ़ा सकती है। विशेषज्ञों की राय है कि यह बहुत खतरनाक होगी। वैक्सीन लेने के बाद भी सावधानी बरतने की जरूरत है।