BCM VAC

    मुंबई. केंद्र सरकार ने 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों को भी मुफ्त वैक्सीन (Free Vaccine) देने की योजना के बाद बीएमसी (BMC) ने प्राइवेट अस्पतालों (Private Hospitals) को निर्देश दिया है कि केंद्र से निश्चित की गए दरों से अधिक  शुल्क नहीं लें अन्यथा कठोर कार्रवाई की जाएगी। जो भी अस्पताल अधिक दर वसूलते पाया जाएगा उस पर एफआईआर (FIR) दर्ज किया जायेगा।

    गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जून से 18 से 44 साल  के उम्र के लोगों को भी मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध कराने की घोषणा की है।  प्रधानमंत्री मोदी ने प्राइवेट अस्पतालों के लिए भी कोरोना रोधी वैक्सीन की दर निश्चित कर दी है। मुंबई में भी कई प्राइवेट अस्पतालों को वैक्सीन लगाने की अनुमति दी गई है।

    बीएमसी प्रशासन ने सभी प्राइवेट अस्पतालों को नोटिस जारी किया

    प्राइवेट अस्पताल अधिक दर न वसूल कर सकें इसको लेकर बीएमसी प्रशासन ने सभी प्राइवेट अस्पतालों को नोटिस जारी किया है। बीएमसी ने प्राइवेट अस्पतालों को निर्देश दिया है कि निश्चित दर से अधिक वैक्सीन की कीमत लेते हुए पाए जाने पर उन पर मामला दर्ज किया जायेगा। मुंबई सहित पूरे देश में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू हुआ है। 1 मई से 18 से 44 साल उम्र के लोगों का भी टीकाकरण शुरु किया गया है, लेकिन इस दौरान 18 से 44 साल के उम्र के लोगों की टीकाकरण की जिम्मेदारी राज्य सरकार पर थी जिसमें लोगों से पैसा लेने की शिकायतें आ रही थीं। इसके बाद केंद्र सरकार ने 28 से 44 वर्ष के  उम्र के लोगों को भी मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया।

    ई-मेल पर कर सकतें हैं शिकायत 

    केंद्र सरकार ने इसके बावजूद प्राइवेट अस्पतालों  में भी वैक्सीन का टीका करने की छूट दी, लेकिन सरकार ने वैक्सीन की कीमत निश्चित कर दी है जिसके अनुसार ही लोगों से टीका की कीमत लेना है। इस संबंध में 8 जून 2021 को केंद्र सरकार ने निजी टीकाकरण केंद्रों द्वारा लाभार्थियों से वसूल की जाने वाली दरें निर्धारित की हैं। इस संबंध में वैक्सीन निर्माता द्वारा भुगतान की गई दर के साथ-साथ 5 प्रतिशत वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) और अधिकतम सेवा शुल्क भी निश्चित कर दिया है। मनपा प्रशासन ने लोगों से अपील किया है कि प्राइवेट अस्पताल यदि निर्धारित दर से अधिक कीमत वसूलते है तो उसकी शिकायत मनपा के पास करें  मनपा ने इसके लिए अपनी वेबसाइट complaint.epimumbai@gmail.com जारी की है जिसपर शिकायत की जा सकती है।

    निश्चित की गई दर

    • कोविशील्ड: 600 + 30 + 160 =  780 रुपये 
    • कोवैक्सीन: 1200 + 60 + 150 = 1410 रुपये 
    • स्पुतनिक-वी: 948 + 47 + 150 = 1145 रुपये