एक महीने में 99 प्रतिशत घरों तक पहुंची बीएमसी

  • 1.40 करोड़ में से 1.06 करोड़ लोगों का हुआ सर्वे

मुंबई. कोरोना संक्रमण रोकने के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अभियान  ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’  के तहत बीएमसी ने अब तक मुंबई के 99 प्रतिशत घरों तक पहुंच कर लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी ली है और बीएमसी के मुताबिक आवश्यकता के अनुसार उन्हें स्वास्थ्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई हैं.

बीएमसी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुंबई में 35.22 लाख घरों में से 34.89 लाख घरों और 1.6 करोड़ लोगों का सर्वेक्षण पूरा किया जा चुका है. बीएमसी ने कोरोना कंट्रोल करने के लिए 5700  लोगों की टीम उतारी है. प्रत्येक टीम में 3 कर्मचारियों को शामिल किया गया है, जो लोगों के घर-घर जाकर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी हासिल कर उनके रिकॉर्ड जमा कर रहे हैं.

बेहतर प्रतिसाद मिल रहा

अधिकारी ने बताया कि मुंबई महानगरपालिका क्षेत्र में शुरू “मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी” अभियान को आम जनता का इतना बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है जिसकी उम्मीद नहीं थी. टीम के सदस्यों के पहुंचने पर खुद लोग ही जांच कराने और स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देने के लिए आगे आ रहे हैं. 15 सितंबर को इस अभियान की शुरुआत की गई थी. ठीक एक महीना पूरा होने पर मुंबई में 35.41 लाख घरों में से 99% मतलब 34.89 लाख घरों का सर्वेक्षण अब तक पूरा हो चुका है. मुंबई की कुल जनसंख्या 1 करोड़ 40 लाख 65 हजार 976 है जिसमें से 1 करोड़ 6 लाख 46 हजार 749 लोगों का अब तक इस अभियान के तहत सर्वे किया जा चुका है.

घर-घर जाकर सर्वे 

गत सप्ताह बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने कहा था कि मुंबई में 88 प्रतिशत घरों और लोगों का सर्वे हो चुका है. कोरोना के संक्रमण को रोकने सहित प्राथमिक स्वास्थ्य जांच, बचाव के उपाय सहित कोरोना से बचने के उपाय भी इस मुहिम के तहत नागरिकों को बताया जा रहा है. इस अभियान के तहत बीएमसी की टीम स्वयंसेवकों के साथ लोगों के घर-घर जाकर सर्वे कर रही है. मुंबई में 15 सितंबर इस अभियान में स्वास्थ्य सेविकाओं 4110 टीमें लगी हैं. 11,492  स्वयंसेवकों और स्वयं सेविकाएं बिना हिचक  लोगों के घरों तक पहुंच कर  उनकी जांच कर रहे हैं. 

 बीमारियों की जानकारी ली जा रही

इस दौरान पूरे परिवार के स्वास्थ्य की जानकारी इकट्ठा की जाती है. इसमें परिवार के लोगों की उम्र के साथ ही डायबिटीज, ब्लडप्रेशर, दमा और अन्य बीमारियों की जानकारी ली जा रही है. लोगों के शरीर का तापमान नापने के लिए टीम को थर्मल गन और ऑक्सीजन लेबल नापने के लिए ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराया गया है. इन उपकरणों के माध्यम से टीम लोगों के शरीर का तापमान और ऑक्सीजन की जांच कर उसे दर्ज करते हैं. बीएमसी कमिश्नर आईएस चहल के नेतृत्व और अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी के मार्गदर्शन में जोरशोर से यह अभियान मुंबई में चलाया जा रहा है. 

लोगों का हेल्थ रिकॉर्ड किया जा रहा कलेक्ट

 अभियान के तहत बीएमसी द्वारा बनाई गई जांच टीम घर- घर जाकर लोगों की जांच कर रही है और उनके हेल्थ रिकॉर्ड कलेक्ट कर रही है. कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों के संपर्क में आए लोगों को ट्रेस कर रही है. इस अभियान के लिए मुंबई में 5700 टीम गठित की गई है. प्रत्येक टीम में तीन- तीन लोग शामिल हैं जो एक दिन में कम से कम 50 घरों में जाकर लोगों के हेल्थ की जांच कर रहे हैं.