smart-class

    मुंबई. बृहनमुंबई महानगरपालिका अब अपने स्कूलों (Schools) में पढ़ने वाले बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के लिए कक्षाओं के डिजिटल (Digital) बना रही है। स्कूल की कक्षाओं को आधुनिक तकनीक (Modern Technology) से लैस किया जा रहा है। बीएमसी स्कूलों (BMC Schools) के 1300 कक्षाओं में कक्षा पहली से लेकर 10वीं के छात्रों के लिए डिजिटल क्लास शुरू करने वाली है। अब बीएमसी के लाखों विद्यार्थी जाने माने निजी स्कूलों के विद्यर्थियों की तरह आधुनिक शिक्षा ले सकेंगे। 

    आज के कंप्यूटर युग में छात्रों का शैक्षणिक और बौद्धिक विकास और बेहतर हो तथा उन्हें भविष्य में सरकारी ,प्राइवेट नौकरी, उद्योग, धंधे करना अधिक सुलभ हो इस आशय का प्रस्ताव स्थापत्य समिति में लाया जाने वाला है। बीएमसी स्कूलों में शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए शिवसेना अध्यक्ष और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे लगातार प्रयास कर रहे हैं। उनके प्रयासों से ही बीएमसी के स्कूलों में कुछ वर्ष पहले वर्चुअल क्लास रुम की योजना लागू की गई थी। बीएमसी स्कूलों के छात्रों को कंप्यूटर युग में टैब के जरिए पढ़ाई करने के लिए कक्षाएं शुरु की गई थी।

    प्रस्ताव तैयार किया गया

    पिछले कुछ वर्षों से बीएमसी स्कूलों को डिजिटल बनाने की केवल चर्चा की जा रही थी, लेकिन अब स्कूलों को डिजिटल बनाने की प्रक्रिया शुरु की जा रही है। इस संदर्भ में प्रस्ताव तैयार किया गया है। बीएमसी के 1300 कक्षाओं को डिजिटल बनाने के लिए वर्कऑर्डर जारी किया गया है। आगामी 6 महीने में डिजिटल कक्षाएं बन कर तैयार हो जाएंगी।

    बेनेट कोलमेन एंड कंपनी को 36 करोड़ 79 लाख रुपये में ठेका 

     जिसमें   इंटरेक्टिव पैनल (एलईडी), यूपीएस व ई-लर्निंग और  मल्टीमिडिया कंटेंट (कक्षा 1 से 10 वीं तक) की जानकारी जुटाने बनाने के लिए मेसर्स बेनेट कोलमेन एंड कंपनी को 36 करोड़ 79 लाख रुपये में ठेका दिया जा रहा है। कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों के लिए एनिमेशन गेम आदि के साथ खास  शिक्षा दी जाएगी।  व्हाइट बोर्ड, स्मार्ट बोर्ड, स्पीकर्स की सहायता से भी शिक्षक को 6 महीने प्रशिक्षित किया जाएगा। बीएमसी शिक्षा अधिकारी महेश पालकर ने बताया कि इरेक्टिव पैनल से डिजिटल शिक्षा विद्यार्थियों को शिक्षकों की तरफ से कक्षा में ही दी जाएगी। इससे मिलने वाली शिक्षा विद्यार्थियों के मष्तिष्क में स्मरण रहेगा। इसी पैनल का उपयोग कर परीक्षा भी ली जाएगी।