कोरोना काल में सादगी से मनाएं गणेशोत्सव , सीएम उद्धव ठाकरे की अपील

– गणेशोत्सव के लिए मुंबई के उत्सव मंडलों के साथ चर्चा

मुंबई. कोरोना विषाणु के संकट के कारण मुंबई के सार्वजनिक गणेश उत्सव मंडल  कोविड-19 के बारे में स्वास्थ्य संबंधी सावधानी रखते हुए इस वर्ष का त्योहार मनाएं. हालांकि इस साल का उत्सव सीमित तरीके से मनाया जाए, अगले साल के उत्सव के अवसर पर अधिक उत्साह और भव्यता के साथ जश्न मनाने की कोशिश की जाए , मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह आवाहन किया है. मुख्यमंत्री  ठाकरे ने आगामी गणेशोत्सव के संदर्भ में मुंबई शहर जिला के प्रमुख गणेश मंडलों के पदाधिकारियों के साथ  वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से संवाद साधा. विधायक अजय चौधरी, मुंबई शहर जिले के सार्वजनिक उत्सव समन्वय समिति के पदाधिकारियों और विभिन्न मंडलों के पदाधिकारियों ने इसमें भाग लिया.

 मंडलों के पदाधिकारियों ने यह भी कहा कि वे कोरोना विषाणु के प्रसार को रोकने के लिए सरकार के प्रयासों में भरपूर सहयोग करेंगे. मुंबई में गणेश मंडलों की समाजोन्मुख गतिविधियों में योगदान करने की परंपरा रही है. इसलिए, कोरोना के संकट के समय, मंडलों के पदाधिकारियों ने विश्वास व्यक्त किया कि स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रमों, स्वास्थ्य मेलों, शिविरों आदि के माध्यम से इस वर्ष भी मंडल सक्रिय रहेंगे. गणेश मंडलों की इन विशेषताओं को दोहराते हुए  ठाकरे ने उनकी सराहना की.

मूर्तियों की ऊंचाई होगी छोटी 

मुख्यमंत्री  ठाकरे ने कहा कि कोरोना विषाणु  फैलने के कारण इस वर्ष सार्वजनिक गणेश उत्सव के स्वरूप की एक निर्धारित सीमा रहेगी. इस वर्ष गणेशोत्सव मंडलों को मूर्तियों की ऊंचाई को छोटा रखने पर विचार करना चाहिए.  हर बड़ी और छोटी बात की कोरोनो विषाणु के प्रकोप और रोकथाम के उपायों के अनुसार योजना बनाई जानी चाहिए.  उत्सव मंडप भी छोटा होना चाहिए. सोशल डिस्टेंसिंग और स्वास्थ्य संबंधी सभी सावधानियां रखें जाने का नियोजन करना होगा. कोरोना के संकट पर काबू पाने के बाद, अगले साल इसी गणेशोत्सव  को पिछले साल के त्योहार की अपेक्षा बहुत अधिक उत्साह के साथ मनाया जा सकेगा. इसी विश्वास के साथ इस वर्ष का उत्सव मनाएं.

सरकार के दिशा-निर्देश का पालन किया जाएगा

 चर्चा में भाग लेने वाले समिति के पदाधिकारियों  और सदस्यों ने विश्वास व्यक्त किया कि वे स्वास्थ्य शिविर, विषाणु के प्रसार के बारे में जागरूकता के साथ-साथ चिकित्सा सेवाओं तथा सुविधाओं को  लोगों तक पहुंचाने के उपक्रमों  की योजना भी बनाएंगे.  सरकार मूर्तियों की ऊंचाई के संबंध में जो भी दिशा-निर्देश देगी, उनका पालन किया जाएगा. मंडल अधिकारियों ने कहा कि कोरोना विषाणु  और स्वास्थ्य और स्वच्छता के संबंध में सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन किया जाएगा. इस अवसर पर मूर्ति की ऊंचाई, उत्सव के स्वरूप, पारंपरिक विसर्जन मार्ग और गणेश विसर्जन व्यवस्था  पर भी चर्चा की गई.