file photo
file photo

  • सरकार ने गठित की कमेटी

मुंबई. निजी अस्पतालों की मनमानी पर अंकुश लगाने की तैयारी सरकार ने की है. सिटी स्कैन की दर निश्चित करने के लिए समिति गठित करने का निर्णय लिया गया है. यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने दी है.

   टोपे ने कहा है कि आम नागरिकों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से निजी अस्पतालों में सिटी स्कैन (एचआरसीटी)जांच की दर निश्चित करने का फैसला लिया गया है. कोविड 19 के इलाज में एचआरसीटी जांच महत्वपूर्ण है. निजी अस्पतालों में इसके लिए 10 हजार रुपये से अधिक वसूल किए जाने की शिकायत मिली है. 

मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. हालांकि कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या भी बढ़ रही है.इस बीच सरकार ने कई जांच की दर को कम किया है.  महाराष्ट्र सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने हाफकिन महामंडल  की तरफ से जारी निविदा में कोरोना जांच के लिए लगने वाले आरटीपीसीआर किट, वायरल ट्रान्सपोर्ट मीडियम किट एवं वायरल आरएनए किट सहित कुल दर 148  रुपये आई है. राज्य सरकार ने मास्क एवं एवं सेनिटाइजर का दाम भी कम करने का निर्णय लिया है.