Maharashtra CM Uddhav Thackeray appreciated the contribution of doctors in the fight against Corona on National Doctors Day

    मुंबई. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई और एमएमआर में चल रहे हजारों करोड़ के इंफ्रा प्रोजेक्टस को समय पर पूरा किए जाने को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे विशेष ध्यान दे रहे हैं। मुंबई और एमएमआर क्षेत्र में संसाधनों के विकास को लेकर उद्धव सरकार द्वारा दिखाई जा रही तेजी को आगामी बीएमसी चुनाव से जोड़ कर देखा जा रहा है। मुंबई में यदि कोई बड़ी समस्या है, तो वह यातायात संसाधनों की है। मुंबई में बढ़ते प्रदूषण को कम कर यातायात सुविधाओं को बढ़ाने के लिए मेट्रो, मुंबई ट्रांस हार्बर लिंक, बांद्रा-वर्सोवा सी लिंक, कोस्टल रोड सहित कई फ्लाई ओवर के काम चल रहे हैं। इंफ्रा प्रोजेक्ट के कुछ काम बीएमसी तो कई योजनाएं एमएमआरडीए के माध्यम से की जा रहीं हैं।

    फरवरी 2022 में होने वाले बीएमसी चुनावों के पहले मेट्रो-2 ए एवं 7 को खोलने की योजना पर काम हो रहा है, इसके अलावा कोस्टल मार्ग, एमटीएचल, वर्ली-शिवडी कनेक्टर सहित कई बड़ी योजनाओं को पूरी गति के साथ पूरा करने का निर्देश स्वयं मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे दे रहे हैं। सीएम उद्धव ठाकरे के अलावा उनके पुत्र एवं कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे की भी मुंबई की योजनाओं पर विशेष नजर है। मुंबई उपनगर के पालकमंत्री के रुप में भी आदित्य ठाकरे लगातार एमएमआरडीए एवं बीएमसी के अधिकारियों से अलग-अलग योजनाओं के कार्य को लेकर चर्चा कर रहे हैं।

    कोस्टल रोड का 36 प्रतिशत काम 

    बताया गया है कि शिवसेना के ड्रीम प्रोजेक्ट मुंबई कोस्टल रोड के काम को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे ने विशेष निर्देश दिया है। हालांकि कोस्टल रोड का मात्र 36 प्रतिशत ही काम हुआ है। 10.58 किमी के इस मार्ग के लिए 12 हजार 721 करोड़ खर्च होंगे। 6 लेन के इस बहुद्देश्यीय मार्ग पर 2 बड़ी सुरंग के साथ 15.66 किमी के इंटरचेंजेस मार्ग बनेंगे। बांद्रा वर्ली सी लिंक को जोड़ने वाले उड़ान पुल की शुरुआत भी जल्द ही होने जा रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एमएमआरडीए के आयुक्त श्रीनिवास को मुंबई और एमएमआर के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स के काम में तेजी लाने को कहा है, ताकि मुंबई महानगरपालिका चुनाव में शिवसेना इन कार्यों की बदौलत मुंबईकरों के समक्ष विकास का एजेंडा रख सके। उल्लेखनीय है कि बीएमसी के साथ-साथ टीएमसी, केडीएमसी व युएमसी इन निगमों के चुनाव होने वाले हैं। एमएमआर के अंतर्गत आने वाले इन महानगरपालिका पर शिवसेना ही काबिज है और एमएमआरडीए की तरफ से इंफ्रा परियोजनाओं पर भी काम में तेजी लाने का प्रयास हो रहा है। 

    मेट्रो-2 ए एवं 7 का ट्रायल रन तेजी से शुरू

    मेट्रो 2 ए एवं 7 का ट्रायल रन तेजी से शुरू है। कुछ फ्लाई ओवर के काम भी जल्द पूरे होने वाले हैं। हाल ही में नवी मुंबई मनपा क्षेत्र में मेट्रो का ट्रायल शुरू किया गया है। नागरिकों से जुड़ी इन बड़ी परियोजनाओं के भरोसे शिवसेना बीएमसी सहित अन्य नगर निगमों की चुनावी वैतरणी पार करना चाहेगी। मुंबई-नागपुर समृद्धी महामार्ग को जल्द शुरू किए जाने को लेकर भी सीएम उद्धव ठाकरे रुचि ले रहे हैं। एमएमआर क्षेत्र में मेट्रो, फ्लाईओवर व अन्य परियोजनाओं पर काम हो रहा है। अनलॉक के बाद अब उन्हें तेजी से पूरा करने के लिए एमएमआरडीए ने कमर कसी है।

    12,969.35 करोड़ का बजट

    मुंबई एमएमआर में लगभग 300 किलोमीटर का परिवहन नेटवर्क विकसित किया जा रहा है। अधिकारियों के अनुसार मुंबई देश का पहला शहर है जहां इतनी तेज गति से यातायात संसाधनों पर काम हो रहा है। इसे देखते हुए सीएम ने एमएमआरडीए का बजट भी बढ़ाया है। जो पिछले वर्ष की अपेक्षा 3100 करोड़ ज्यादा है। चर्चा है कि बीएमसी चुनाव तक मुंबई एमएमआर की ट्रैफिक को कम कर मुंबईकरों की यात्रा को कुछ आरामदायक बनाने का संदेश सरकार देना चाहती है।