“कांग्रेस और एनसीपी नहीं चाहती किसानों का भला”

  • बीजेपी का आरोप

मुंबई. बीजेपी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नहीं चाहती हैं कि किसानों का भला हो और दोनों की इच्छा है कि किसान हमेशा संकट में ही रहें. प्रदेश बीजेपी के मुख्य प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों के कल्याण को लेकर कानून बनाया है. अब दोनों पार्टी की तरफ से कहा गया है कि इस कानून को महाराष्ट्र में लागू नहीं किया जाएगा.

भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित पत्रकार परिषद में पार्टी के मीडिया प्रमुख विश्वास पाठक, संयुक्त प्रभारी देवयानी खानखोजे भी उपस्थित थीं. उपाध्ये ने कहा कि कृषि क्षेत्र को लेकर कुछ दिनों पहले संसद के दोनों सदनों में मंजूर बिल पर कांग्रेस राजनीति शुरु की है. यह कानून राज्य में लागू नहीं होने देने की बात दोनों कांग्रेस की तरफ से कही गई है. किसानों की आय दो गुना करने को लेकर कानून में उपाय किया गया है. कांग्रेस ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव घोषणा पत्र में इस बात का उल्लेख किया था कि किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए बंधन मुक्त किया जाएगा. कांट्रेक्ट खेती की शुरुआत कांग्रेस की सरकार रहते महाराष्ट्र और हरियाणा में हुई थी.अब केवल विरोध के लिए विरोध किया जा रहा है.