The actual number of known cases of infection from corona may be six times higher: study

  • अब मनपा ने भी मुंबईकरों को चेताया
  • डबलिंग रेट पहुंचा 102 दिन
  • मरीज वृद्धि दर 1.22 से 0.69 पर

मुंबई. मुंबई में कोरोना मरीजों के गिरते ग्राफ की वजह से डबलिंग रेट पहली बार भले ही 100 दिन के पार पहुंच गया  है. लेकिन खतरा अभी टला नहीं है. बीएमसी ने भी मुंबईकरों को आगाह किया है कि अभी कोरोना का खतरा टला नहीं है, इसलिए दवा आने तक घर से बाहर निकल रहे हैं तो कोरोना से अपना बचाव करें.

डबलिंग रेट के साथ मरीज वृद्धि दर भी 1.22 से घट कर 0.69 पर आ गई है. बीएमसी की तरफ से चलाए जा रहे ‘चेज दि वायरस’,  मिशन जीरो, ट्रेसिंग- ट्रैकिंग-टेस्टिंग- ट्रीटिंग के साथ शुरू किए गए ‘मेरा  परिवार- मेरी जिम्मेदारी’ अभियान अब  सफलता के रंग दिखाने लगा है. इस मुहिम के अंतर्गत घरों तक पहुंच रही बीएमसी की 5700 टीमों की तरफ से घर-घर जांच, स्वास्थ्य की जानकारी लेने और जरूरत पड़ने पर अस्पताल में भर्ती करके उपचार करना वायरस को कम करने में सफलता मिली है.

बीएमसी की मुहिम और मुंबईकरों की तरफ से मिल रहे प्रतिसाद के कारण डबलिंग रेट 102 पहुंच गया है. बीएमसी कमिश्नर ने कोरोना को नियंत्रित करने में सहयोग दे रहे  मुंबईकरों का आभार व्यक्त किया है.  25 अगस्त को डबलिंग रेट 93 दिन था. उसके बाद संक्रमण बढ़ने के साथ 14 सितंबर को डबलिंग रेट 54 दिन पर आ गया. 1 अक्टूबर को 66 दिन, 10 अक्टूबर को 69 दिन और 21 अक्टूबर को 102 पर पहुंचा. 

मुंबई के तीन वॉर्डों में डबलिंग रेट 150 दिन है. जबकि 11 वॉर्डों में 100 दिन से अधिक है. जी दक्षिण विभाग में 175 दिन, ई वॉर्ड में 160 दिन और एफ  वॉर्ड में 157 दिन है. 

मिशन जीरो पर अधिक रहेगा ध्यान

मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने कहा कि अभी भी हमारा ध्यान मिशन जीरो की ओर है जिसमेंं झोपड़पट्टी में बीमारी के फैलने पर लगाम लगाने के लिए मोबाइल डिस्पेंसरी वैन का उपयोग किया जा रहा है. झोपड़पट्टी परिसर में कैम्प लगाकर लोगों की जांच करना और बीमारी होने पर अस्पताल तक ले जाना इसके लिए स्वास्थ्य टीम काम कर रही है.

आयुक्त ने कहा कि हम आगे भी कोरोना बीमारी से लड़ने के लिए चार सूत्रीय ट्री पर काम करते रहेंगे. पुलिस का सहयोग मिल रहा है जो  आगे भी जारी रहेगा. बिना मास्क के घूमने वाले लापरवाह लोगों पर पुलिस के द्वारा कठोर कार्रवाई किए जाने की जानकारी दी. आयुक्त ने  कहा कि इसी तरह सार्वजनिक शौचालयों में सेनेटाइज का काम चलता रहेगा. शौचालय में जाने वाले लोगों को हाथ धोने के लिए साबुन सेनेटाइजर आदि की सुविधा उपलब्ध कराए जाने की भी  जानकारी दी है.