And 6 patients died - the number of dead from corona 67

  • देश में इस तरह का पहला मामला

मुंबई.  लाखों मुंबईकरों की इम्यूनिटी अच्छी होने के कारण कोरोना होकर चला गया और उन्हें पता भी नहीं चला. यह सीरो सर्वे की रिपोर्ट में पता चला था लेकिन यह खबर मुंबईकरों को निराश कर सकती है. अंधेरी के सेवनहिल अस्पताल में 3 मरीज ऐसे आये हैं जो कोरोना से ठीक होकर घर गए थे लेकिन एक महीने बाद दुबारा संक्रमित हो गए. ठीक होने वाले मरीजों के दुबारा संक्रमित होने का भारत में यह पहला मामला है. चीन में दुबारा संक्रमण का पता चला था. इस केस के बाद अब भारत में लोगों को कोरोना से अधिक सावधान होने की जरूरत है. 

दुबारा संक्रमण के शिकार हुए 

अब तक यह कहा जा रहा था कि जिसे एक बार कोरोना हो गया उसके शरीर में एंटीबॉडी विकसित होने से दुबारा संक्रमण की संभावना नहीं होती है. सेवन हिल अस्पताल के डॉ. महारुद्र ने जानकारी दी कि दो से तीन मरीज दोबारा संक्रमित होकर आ गए हैंं जिनका इलाज किया जा रहा है.  उन्होंने कहा कि यह नहीं कह सकते कि ठीक होने वाले मरीज दुबारा संक्रमित हो रहे हैं, हो सकता है कि फाल्स रिपोर्ट आई हो. निजी लैब की कुछ खामियां हो सकती हैं. दुबारा संक्रमित मरीज की पहले कहां जांच की गई थी किस अस्पताल में उनका इलाज हुआ था उसमें कितनी सच्चाई थी नहीं पता. लेकिन वे दुबारा संक्रमण के शिकार हुए हैं.  इस मामले के बाद शरीर में विकसित होने वाली एंटीबॉडी पर भी सवाल उठने लगे हैं. हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि शरीर में एंटीबॉडी केवल 6 महीने ही रहती है उसके बाद इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है जिससे दुबारा  संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है.

मलबार हिल में तेज हुई कोरोना की रफ्तार 

दक्षिण मुंंबई के डी वार्ड के अंतर्गत आने वाले मलबार हिल और पेडर रोड में एक बार फिर कोरोना की रफ्तार तेज हो गई है. यह इलाके दक्षिण मुंबई के पॉश इलाके माने जाते हैं जहां बड़े सरकारी अधिकारियों और उद्योगपतियों का निवास स्थान है. पिछले 3 दिनों से यहां रोजाना कोरोना के 35-40 केस मिल रहे हैं. यहां अब जो कोविड संक्रमित मरीज मिल रहे हैं उनमें पूरा का पूरा परिवार है.

बीएमसी की चिंता बढ़ गई 

डी वार्ड में कोरोना मरीजों की संख्या बहुत कम होने के बाद कोविड सेंटर्स को बंद कर दिया गया था. अब परिवार के सभी सदस्य कोरोना पॉजिटिव मिलने से बीएमसी की चिंता बढ़ गई है.  यहां पिछले 3 दिनों में संक्रमित होने वाले  कुल मरीजोंं में 5 पुलिस और 4 मनपा कर्मचारी भी हैं. डी वार्ड में अब तक कोरोना के कुल 4900 मरीज पाए गए है जिनमेंं 198 लोगोंं की मौत हो चुकी है. 

स्थानीय निवासियों का भी साथ मिलना जरूरी 

मनपा सहायक आयुक्त प्रशांत गायकवाड़ ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैंं. स्थानीय निवासियों का भी साथ मिलना जरूरी है. लोग बाहर निकलते समय खुद की सुरक्षा पर अधिक ध्यान देंं और मास्क अवश्य लगाएं. गायकवाड़ ने बताया कि  डी वार्ड में अब तक कुल 4900 मरीज मिले हैंं. जिनमेंं से  3900 मरीज ठीक हो चुके हैं. इस वार्ड में 880 एक्टिव मरीज हैं जिनका अस्पताल में  इलाज चल रहा है. 500 खाट सीसीसी 1 सेंटर में  और 240 क्वारंटाइन के लिए रिजर्व है, जबकि सीसीसी 2 की क्षमता 145 मरीज की है उसमें  अभी 47 मरीज ही हैं. 

 राज्य में एक दिन में 413 की मौत

 राज्य में दिन भर में 413 मरीजों की मौत हुई. कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ने के साथ मौत के आंकड़े भी बढ़ने लगे हैं. 24 घंटे में राज्य में 11,813 नये मरीज मिले जबकि 9,115 मरीज ठीक हुए हैं. मुंबई में भी आज नये मरीजों की संख्या 1200 रही. मुंबई में 48 मरीजों की मौत हुई.