कोरोना का साइड इफेक्ट, दिनभर नाकेबंदी से जूझते रहे लोग

– पुलिस की कार्रवाई से लोग हलाकान

दफ्तर जाने वाले भी हुए परेशान

– वाहन चालकों की धरपकड़ जारी

– 8611 वाहनों के खिलाफ कार्रवाई

मुंबई. कोरोना महामारी से जूझ रहे लोगों का जीना दुभर हो गया है. लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि लाॅकडाउन में यह किस तरह की ढील दी गयी है. उन्हें अपने काम-धंधे और दफ्तर जाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. रविवार को पुलिस ने शहर में जगह-जगह नाकेबंदी कर वाहन चालकों पर जो कार्रवाई शुरू की थी. वह सोमवार को जारी रही. पुलिस ने मुंबई में 8611 वाहनों पर कार्रवाई की है.

आफिस जाने और जरुरी कामों के लिए ही वाहन से निकलने की इजाजत दी गयी है, लेकिन रविवार को जो पुलिस का लाॅकडाउन का पालन करने के लिए नया दिशा निर्देश जारी हुआ है. उससे लोग हलाकान हो गए हैं. लोगों का कहना है कि ऐसी राहत देना है, तो पूरी तरह शहर में बंदी आदेश जारी कर देना चाहिए, जिससे उन्हें पुलिस से अनावश्यक रूप से परेशान न होना पड़ता. सोमवार को लोग दफ्तर और जरुरी काम के लिए घर से निकले, पुलिस नाकाबंदी का सामना करना पड़ा. लोग घंटों जगह-जगह फंसे रहे. पुलिस पूरे दिन लोगों की धरपकड़ कर जांच के नाम परेशान की. पुलिस ने नाकेबंदी और चेकनाकों पर  8611 वाहनों पर कार्रवाई की है. इसमें पुलिस ने 474 आटो रिक्शा, 295 टैक्सी, 1601 प्राइवेट कार और 6241 बाइक पर कार्रवाई की है.