एमएमआर क्षेत्र में कोरोना की स्थिति खराब

 – रोकथाम के उपाय, जांच एवं मौतों की संख्या की समीक्षा करे सरकार

मुंबई. पूर्व मुख्यमंत्री एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि मुंबई एवं एमएमआर क्षेत्र की परिस्थिति बहुत ही खराब होती जा रही है. पनवेल में संक्रमण दर 45 प्रतिशत, भिवंडी में 48 प्रतिशत, मीरा भायंदर में 43 प्रतिशत है. 

एक तरफ कोरोना की जांच नियंत्रित की जा रही है, तो दूसरी तरफ मृत्यु की संख्या पुरानी बतायी जा रही है.जबकि हर रोज अधिक मृत्यु हो रही है. फडणवीस ने मुख्यमंत्री  उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर  संपूर्ण परिस्थितियों की विस्तृत समीक्षा एवं उस पर उपाय योजना करने की मांग की है.   

फडणवीस ने मुख्यमंत्री ठाकरे को लिखा पत्र

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में  देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि मुंबई में 24 जून तक  2,99,369 नमूनों की जांच की गई तो मरीजों की संख्या 69,528 थी. जांच की संख्या के आधार पर संक्रमण का असर 23.22 प्रतिशत हुआ. इसमें से 1 से 23 जून की कालावधि में 97,872 जांच कराई गई और उसमें  29,017 मरीज मिले. यह दर 29.65 प्रतिशत है. 24 जून तक देश भर में 73,52,911 जांच हुई, उसमें 4,73,105 मरीज मिले.पूरे देश में संक्रमण का  6.43 प्रतिशत था. 24 जून को अब तक का सबसे अधिक एक दिन में  2,15,195 जांच की गई जिसमें से 16,922 मरीज मिले.संक्रमण का प्रमाण 7.86 प्रतिशत था.ठाणे में अब तक 37,409 जांच हुई उसमें 11,220 मरीज मिले. संक्रमण दर 29.94 प्रतिशत है. नवी मुंबई में अब तक 17,604 जांच हुई और 6407 मरीज मिले, संक्रमण दर  36.40 प्रतिशत है, कल्याण-डोंबिवली में 12,186 जांच हुई, 4843 मरीज मिले, संक्रमण दर 39.74 प्रतिशत, मीरा भायंदर में 6351 जांच की गई, 2738 मरीज मिले, संक्रमण दर 43.11 प्रतिशत, भिवंडी निजामपुर में 2898 जांच की गई, 1407 मरीज मिले, संक्रमण दर 48.55 प्रतिशत, पालघर, वसई, विरार में 19,692 जांच की गई जिसमें 4028 मरीज मिले,  संक्रमण दर 20.46 प्रतिशत, यह स्थिति है. 

कोरोना के खिलाफ  लड़ाई आंकड़ों पर न हो

देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि कोरोना के खिलाफ  लड़ाई आंकड़ों पर न होकर कोरोना केंद्रित होनी चाहिए.यह बात हम हमेशा से कह रहे हैं.लेकिन ऐसा दिख नहीं रहा है.कोरोना की जांच को बड़े पैमाने पर नियंत्रित किया जा रहा है.