सीसी रोड-बीएसयूपी योजना में करप्शन की होगी जांच

अनिल चौहान 

भायंदर. यूटीएडब्लूयूटी तकनीक से बन रहे शहर के 8 सीसी रोड और गरीबों को पक्का घर देने की बहुप्रलंबित बीएसयूपी योजना में कथित करप्शन और घटिया निर्माण की जांच के आदेश राज्य के अवर सचिव ने दिए हैं.

जांच की मांग शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने मुख्यमंत्री से की थी. सरनाईक ने कहा कि 400 करोड़ रुपए कर्ज लेकर सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है.

काम की 2 बार बढ़ाई जा चुकी है सीमा, फिर भी काम अधूरा

उनका आरोप है कि सीसी रोड का ठेका 22.65 से 30 फीसदी ज्यादा दर पर दिया गया था.कार्यावधि की सीमा 2 बार बढ़ाई जा चुकी है, फिर भी काम अधूरा है. जो काम हुआ है उसकी गुणवत्ता एकदम निकृष्ट दर्जे की है. रोड में दरारें पड़ गईं हैं. गौरतलब है कि सीसी रोड का निर्माण करने वाली मुख्यतः श्रीजी कंट्रक्शन और गजानन कंट्रक्शन ऐसी कंपनियां हैं, जिन्हें तमाम आरोपों के बाद भी सालों साल से ठेका दिया जाता रहा है. सरनाईक का आरोप है कि बीएसयूपी योजना के लाभार्थियों की सूची में 15 से 20 फीसदी नाम स्थानीय नगरसेवकों और संबंधित मनपा अधिकारियों के करीबियों के हैं. इसकी शिकायत सरनाईक ने मुख्यमंत्री से की थी. उसके आधार पर अवर सचिव नवनाथ वाठ ने कोंकण विभागीय आयुक्त को जांच का आदेश जारी किया.

यह योजना मेरे वार्ड में है. योजना जल्दी से जल्दी पूरी हो और गरीबों को पक्का घर नसीब हो जाए, सिर्फ इसी पर मेरा जोर रहा है. जांच को मेरा पूरा समर्थन है. इस मामले में मैं सरनाईक के साथ हूं.

-ज्योत्स्ना हसनाले, महापौर