arrest

मुंबई. बोरिवली में एक बहू ने अपने प्रेमी से सास की हत्या इसलिए करवा दी कि सास को बहू के प्रेम संबंध का पता चल गया था और उसे डर था कि कहीं वह उसके पति को न बता दे. बोरिवली पुलिस ने शक के आधार पर प्रेमी को पकड़ा तो सालुबाई कचरू लाखे (57) की हत्या का राज सामने आया और उसने सालुबाई की हत्या करने का जुर्म कबूल लिया.

बोरिवली (प.) के गोराई रोड स्थित महात्मा फुले झोपड़पट्टी में सालुबाई कचरू लाखे अपनी बहू राधा लाखे (28) और बेटे के साथ रहती थी. 25 अक्टूबर की रात 11.30 बजे सालुबाई की चाकू मार कर हत्या कर दी गयी. उस दौरान उनकी बहू राधा लाखे गरबा खेलने गयी थीं. जब वह घर आयी, तो सास सालुबाई घर में खून से लथपथ पड़ी हुई थी. पड़ोसियों ने बाद में पुलिस कंट्रोल रूम को फोन किया.

कंट्रोल से मिली हत्या की सूचना

बोरिवली पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक लक्ष्मण डुंबरे ने बताया कि उन्हें कंट्रोल रूम से महिला की हत्या किए जाने की सूचना मिली. पुलिस टीम मौके पर पहुंची और खून से लथपथ सालुबाई को भगवती अस्पताल ले गयी. वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. बोरिवली पुलिस ने बगल में ही रहने वाली सालुबाई की बेटी सुनिता संजय भालेराव की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज किया.

पूछताछ में मिला हत्यारे का सुराग

पुलिस उपायुक्त विशाल ठाकुर के मार्गदर्शन में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक लक्ष्मण डुंबरे की टीम ने मृतक सालुबाई के घर आने-जाने वालों से पूछताछ शुरू की. पुलिस को जांच के दौरान सालुबाई के घर आने वाले दीपक माने (38) की स्थित संदिग्ध लगी. पुलिस को दूसरों से पूछताछ में पता चला कि वह वारदात के दिन सालुबाई के घर के पास दिखायी दिया था. जब पुलिस ने दीपक माने से कड़ाई से पूछताछ किया, तो उसने सच उगल दिया.

प्रेम संबंध को छुपाने के लिए रचा हत्या का षड्यंत्र

दीपक ने बताया कि सालुबाई की हत्या का षड्यंत्र उनकी बहू राधा लाखे ने रची, क्योंकि उसके प्रेम संबंध का पता उसकी सास को चल गया था. राधा ने अपने प्रेम संबंधों को छुपाने के लिए सास सालुबाई की हत्या करवाई. वारदात के वक्त राधा का पति काम के सिलसिले में मुंबई से बाहर गया था. बोरिवली पुलिस ने राधा को हत्या का षड्यंत्र रचने और दीपक माने को हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया है.