Realty

  • त्यौहारी सीजन में तेज रिकवरी की उम्मीद

मुंबई. कोविड महामारी की मार झेलने के बाद अब मुंबई महानगर क्षेत्र (MMR) के रियल एस्टेट मार्केट में सुधार आने लगा है और त्यौहारी सीजन (Festive season) में तेज रिकवरी की उम्मीद है. हालांकि यह रिकवरी हाउसिं‍ग सेगमेंट में दिख रही है. कोविड (Kovid) का खतरा कायम रहने से कमर्शियल प्रॉपर्टी मार्केट में अभी भी मांग काफी कमजोर है. होम लोन दरें 6.9% के न्यूनतम स्तर पर आने, रियल्टी कंपनियों द्वारा भारी छूट और ऑफर और महाराष्ट्र सरकार द्वारा स्टॉम्प ड्यूटी में 2% की कटौती मांग बढ़ाने में मददगार हो रही है. रियल्टी कंपनियों को उम्मीद है कि वर्ष 2020 की चौथी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) में एमएमआर के हाउसिं‍ग सेगमेंट में 30 से 35% की अधिक बिक्री होगी. बिल्डरों द्वारा जीएसटी, स्टॉम्प ड्यूटी, होम लोन ईएमआई, रजिस्ट्रेशन आदि में तमाम तरह की छूट दिए जाने से ग्राहक आकर्षित हो रहे हैं.

होम लोन वितरण में तेज बढ़ोतरी

रियल एस्टेट मार्केट में सुधार आने से होम लोन की मांग भी बढ़ने लगी है. रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में भारी कटौती की है. जिससे होम लोन दर रिकार्ड निचले स्तर 6.9% पर ही आ गई है. सितंबर तिमाही के दौरान होम लोन वितरण प्री-कोविड स्तर के 95% तक पहुंच गया है. प्रमुख होम लोन कंपनी एचडीएफसी के होम लोन में तो 31% की अच्छी वृद्धि हुई है. एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस भी होम लोन वितरण में तेज बढ़ोतरी दर्ज कर रही है. होम लोन कंपनियों के मुताबिक, 25 से 40 लाख रुपए मूल्य की रेंज वाले घरों की खरीद सबसे ज्यादा हो रही है. यानी इस अफोर्डबल सेगमेंट में अच्छी मांग है.

अफोर्डबल हाउसिंग में मांग अधिक

“होम लोन सस्ता होने, स्टॉम्प ड्यूटी में कटौती तथा प्रॉपर्टी कीमतें नीचे आने से सेंटिमेंट काफी पॉजिटिव हो गया है. ग्राहकों को यह समझ में आ गया है कि अब प्रॉपर्टी के दाम और नहीं घटेंगे. इसलिए यह खरीदी का सही समय है. सबसे ज्यादा मांग अफोर्डबल हाउसिंग में निकल रही है. प्रीमियम सेगमेंट भी सुधरने लगा है. जैसे-जैसे सभी बिजनेस पटरी पर आएंगे, कमर्शियल प्रॉपर्टी की बिक्री भी बढ़ने लगेगी. लॉकडाउन के कारण 4 महिनों तक बिक्री ठप होने के बाद अगस्त से बिक्री बढ़ने लगी है. अगस्त-सितंबर में अरिहंत ने 300 फ्लैट बेचे. अगली छमाही में अच्छी बिक्री की संभावना है. -अशोक छाजेड़, अध्यक्ष, अरिहंत सुपरस्ट्रक्चर्स लिमिटेड 

ग्राहकों का बढ़ने लगा भरोसा

“निश्चित ही रियल्टी सेक्टर में सुधार तेजी से हो रहा है. रिजर्व बैंक और राज्य सरकार के कदमों से माहौल पॉजिटिव हो गया है. रियल्टी कंपनियां भी छूट दे रही हैं. जून-सितंबर की तिमाही में एमएमआर के मार्केट में 16,500 करोड़ रुपए मूल्य के घर बिके, जबकि पिछली तिमाही में मात्र 6748 करोड़ रुपए की बिक्री हुई थी. इस तरह तीसरी तिमाही में 145% की जोरदार वृद्धि दर्ज हुई. यह ग्राहकों के बढ़ते भरोसे का स्पष्ट संकेत है. आगे त्यौहारी सीजन में तेज रिकवरी आएगी और हमें चौथी तिमाही के दौरान बिक्री में 30 से 35% बढ़ने की उम्मीद है.” -मंजू याज्ञनिक, उपाध्यक्ष, नाहर ग्रुप

कोरोना संकट से उबरता मार्केट

“अब लोग और रियल एस्टेट इंडस्ट्री कोरोना के कहर से उबर रहे हैं. राज्य सरकार की स्टैम्प ड्यूटी घटाने का अच्छा असर रियल एस्टेट मार्केट पर हुआ है. इस त्योहारी सीजन में हर साल घरों की बिक्री में इजाफा होता है. बिल्डर भी अच्छे ऑफर ग्राहकों को दे रहे हैं, इसलिए त्योहारी सीजन में रियल एस्टेट की डिमांड बढ़ती दिख रही है. आने वाले दिनों में डिमांड और बढ़ेगी. – जितेंद्र मेहता, उपाध्यक्ष, MCHI ठाणे यूनिट