मुंबई में चीन के खिलाफ प्रदर्शन जारी, कई स्थानों पर फूंका गया चीन के राष्ट्रपति का पुतला

– चीन निर्मित वस्तुएं भी जलाई गई

मुंबई. लद्दाख के गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों पर किए गए हमले को लेकर मुंबई व आसपास के इलाकों में चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है. गुरुवार को मुंबई के कई स्थानों पर चीन के राष्ट्रपति का पुतला जलाया गया एवं चीन की वस्तुओं को भी आग के हवाले किया गया. हमले से नाराज लोग चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की मांग सरकार से कर रहे हैं.अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मुंबई स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास के सामने प्रदर्शन किया.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का झुनझुना आंदोलन

  राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने हमले को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ भी नाराजगी जताई है. राष्ट्रवादी युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मेहबूब शेख के नेतृत्व में झुनझुना आंदोलन किया गया.कहा गया कि हमारे जवान शहीद हुए एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसी तरह की कार्रवाई नहीं की है. चीन लगातार हमले कर रहा है, जिसमें हमारे जवान शहीद हो रहे हैं. परंतु मोदी सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है. मेहमूद शेख ने कहा प्रधानमंत्री चीन को लाल आंख दिखाओ पूरा देश आपके साथ है.राष्ट्रवादी कांग्रेस की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चीन निर्मित झुनझुना भेंट किया गया.

चीनी सरकार के खिलाफ नारेबाजी 

केन्द्रीय मंत्री रामदास आठवले की रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई) की तरफ से  गुरुवार को चेंबूर इलाके में चीनी होटल के बाहर प्रदर्शन किया गया. आरपीआई (ए) के  कार्यकर्ता दोपहर के समय चेंबूर स्थित चीन के एक होटल के बाहर सड़क पर बैठ गए और चीनी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. प्रदर्शनकारी चीन विरोधी नारे लिखे बैनर थामे हुए थे. पार्टी कार्यकर्ताओं ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर कार्यकर्ताओं ने लोगों से चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने की अपील की.

 नालासोपारा में फूटा गुस्सा

हमले के विरोध में नालासोपारा में लोगों का गुस्सा फूटा. हिंसक झड़प में भारत के 20 जवानों की शहादत की खबर से पूरे इलाके में आक्रोश है.इसी को लेकर वसई- विरार क्षेत्र में नगरसेवक चंद्रकांत गोरिवले के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में लोग नालासोपारा पूर्व के संयुक्त नगर क्षेत्र में एकत्र हुए और विरोध स्वरुप चीन का झंडा जलाया. झड़प के दौरान शहीद हुए सेना के जवानों को श्रद्धांजलि दी गयी. इस दौरान सभी उपस्थित लोगों से अपील करते हुए कहा गया कि भारत का हर व्यक्ति चीन द्वारा निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार करे और संकल्प ले कि हम भविष्य में भी कभी भी चीन निर्मित किसी भी उत्पाद को नहीं खरीदेंगे.

जिनपिंग का पुतला जलाया 

बीजेपी विधायक बबनराव लोनीकर के नेतृत्व में चीन के खिलाफ प्रदर्शन किया गया. इस अवसर पर चीन के राष्ट्रपति सी जिनपिंग का पुतला एवं चीन निर्मित वस्तुओं का दहन किया गया.विधायक लोनीकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश पूरी तरह सुरक्षित है.केंद्र सरकार चीन को माकूल जवाब देने में सक्षम है.उन्होंने लोगों से चीन निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार करने की अपील की.  इस अवसर पर भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष राहुल लोणिकर,रंगनाथ येवले भगवानराव मोरे, डॉ.सुखराज कोटेचा, दिलीप होलानी,डॉ.संजय पूरी,ओम मोर,संपत टकले,शत्रुघ्न कणसे,राजू मुंदडा,कृष्णा आरगडे, डॉ.स्वप्नील मंत्री,शामसुंदर चीतोडा,एस डी शिवनगिरीकर,अजीत पोरवाल,राजेश वाघमारे,मंगेश वाघमारे, अभीषेक सोंळके,कुष्णा कुरधने,अमोल अग्रवाल, गणेश खवल,सुर्यभान कदम,जयकिशोर अग्रवाल, गणेश सोंकके, अमर बगडीया,शुभम कठोरे सहित अन्य लोग मौजूद थे.