Fadnavis strongly attacked, said - Thackeray government failed on every front in last 1 year

  • चलो बिहार! राजनीतिक दलों में हलचल तेज

मुंबई. बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही राजनीतिक दलों में हलचल तेज हो गई है. बीजेपी, कांग्रेस सहित अन्य दलों से जुड़े मुंबई, ठाणे व आस पास के शहरों से हजारों कार्यकर्ता बिहार जाने की तैयारी में जुट गए हैं. चुनाव घोषणा के साथ ही महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर जीत का दावा किया है. बीजेपी ने फडणवीस को बिहार चुनाव का प्रभारी बनाया है.

 चुनाव आयोग की तरफ से तारीखों का ऐलान किये जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दावा किया कि कोरोना संकट के बावजूद बिहार में एक बार फिर एनडीए की सरकार बनेगी. उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में कोरोना का संकट है, भारत भी प्रभावित है इस बीच पहली बार बिहार विधानसभा चुनाव हो रहा है. बिहार की जनता का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर विश्वास है साथ ही साथ नीतीश कुमार और सुशील मोदी का काम भी लोगों को मालूम है.

काफी समय से चुनाव की तैयारी चल रही है

मुंबई में बीजेपी की तरफ से पिछले काफी समय से बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारी चल रही है. पार्टी का उत्तर भारतीय मोर्चा, अल्पसंख्यक मोर्चा, बिहार प्रकोष्ठ के पदाधिकारी अलग-अलग क्षेत्र में बैठक कर बिहार के मतदाताओं में पैठ बढ़ाने की कोशिश में लगे हुए हैं. बिहार चुनाव की घोषणा के बाद शुक्रवार को दादर स्थित मुंबई बीजेपी मुख्यालय में बिहार प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों की बैठक हुई. प्रकोष्ठ के कार्याध्यक्ष मनोज झा ने कहा है कि पार्टी के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में बिहार जाएंगे.

पोयसर से बड़ी संख्या में लोग बिहार जाएंगे 

बीजेपी के नगरसेवक शिवकुमार झा ने कहा है कि पोयसर से बड़ी संख्या में लोग बिहार जाएंगे और अलग-अलग जिलों में चुनाव प्रचार करेंगे. बीजेपी के मोहन मिश्र, इंद्रकुमार झा, फूलसिंह, चक्रधर झा, रमन मिश्र, अशोक सिन्हा जैसे लोगों के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं की टीम बिहार के लिए रवाना होगी. महाराष्ट्र बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रमुख हैदर आजम ने कहा है कि शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ बैठक है, उसमें तय किया जाएगा, कितने लोग किस जिले में और किस विधानसभा क्षेत्र में जाएंगे.

कांग्रेस से लोग जाएंगे बिहार

 बिहार में चौथे नंबर की पार्टी कांग्रेस भी विधानसभा चुनाव को लेकर काफी उत्साहित है. प्रदेश कांग्रेस सचिव नासिर जकारिया का कहना है कि मुंबई में बिहार के लोगों की संख्या बहुत अधिक है. बिहार की नीतीश कुमार सरकार से लोगों में काफी नाराज़गी है. नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने कृषि बिल लाकर किसानों की कमर तोड़ने का काम किया है. प्रदेश कांग्रेस एवं मुंबई कांग्रेस की तरफ से तमाम लोग बिहार जाएंगे और वहां कांग्रेस एवं सहयोगी दलों के उम्मीदवारों का प्रचार करेंगे.