Chief Minister ordered strict action against the vandalism at Ambedkar's house

– मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जिलाधिकारियों को दिया निर्देश

मुंबई. वैश्विक महामारी की वजह से होने वाली मौतों को रोकने को लेकर मुंबई की तरह राज्य के प्रत्येक जिले में विशेषज्ञ डॉक्टरों का टास्क फोर्स गठित किया जाएगा. इस संदर्भ में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि कोरोना से हम सभी पिछले 3 महीने से लड़ रहे हैं. मरीजों की संख्या बढ़ने की रफ्तार हमने अच्छे तरीके से रोकी है, लेकिन मृत्यु दर बढ़ना ठीक नहीं है. हमने लॉकडाउन शिथिल किया है इसकी वजह से कुछ जिलों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है. मरीज की पहचान होने के बाद उसके संपर्क में रहने वालों की जल्द से जल्द तलाश करना एकमेव मार्ग है. इस काम में ढिलाई कदापि नहीं की जानी चाहिए.

टास्क फोर्स का गठन आवश्यक

  मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को राज्य के विभागीय आयुक्त, जिलाधिकारी, महानगर पालिका आयुक्त के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर कोरोना की परिस्थिति की समीक्षा की.  इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे भी मौजूद थे. ठाकरे ने कहा कि मुंबई में हमने डॉक्टरों का  टास्क फोर्स बनाया जिसका बहुत अच्छा उपयोग हुआ है.अब प्रत्येक जिले एवं विभाग में टास्क फोर्स का गठन आवश्यक है.  

कंप्यूटर, स्मार्टफोन एवं कैमरा से मार्गदर्शन आसान 

 मुख्यमंत्री ने कहा कि ट्रैकिंग एवं ट्रेसिंग के संदर्भ में केंद्र एवं राज्य सरकार ने व्यवस्थित दिशा-निर्देश दिया है.उसी अनुसार काम होना चाहिए.उन्होंने कहा कि कुछ स्थानों पर वरिष्ठ डॉक्टर्स अपनी उम्र एवं अन्य बीमारियों की वजह से कोविड मरीजों की जांच नहीं कर रहे हैं. कनिष्ठ डॉक्टर्स कोविड की जबाबदारी संभाल रहे हैं. यदि वरिष्ठ डॉक्टर्स सीधे कोविड उपचार नहीं करना चाहते हैं तो वे अस्पताल में मौजूद रह कर दूसरे डॉक्टरों का मार्गदर्शन कर सकते हैं.अब कंप्यूटर, स्मार्टफोन एवं कैमरा से मार्गदर्शन आसान है. वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मीरा भायंदर, पुणे ,पिंपरी-चिंचवड, नाशिक, धुले, लातूर, अमरावती, औरंगाबाद जिले एवं महानगरपालिका क्षेत्र में कोरोना बीमारी की समीक्षा की गयी.