ऊर्जा मंत्री ने मुंबई को अंधेरे में डुबोया, भाजपा का आरोप

मुंबई. भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रमुख विश्वास पाठक ने मुंबई और आस- पास के इलाकों में सोमवार को सुबह विद्युत आपूर्ति ठप होने के लिए उर्जा मंत्री नितिन राउत को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. पिछले 6 माह से बंद उद्योग धंधा शुरू हो रहे हैं इस बीच ग्रिड फेल होने की वजह से मुंबई अंधेरे में डूब गयी.

ऊर्जा मंत्रालय के पूर्व सलाहकार निदेशक विश्वास पाठक ने कहा है कि सुबह से बिजली गायब होने से केवल उद्योग क्षेत्र को ही नुकसान नहीं हुआ, बल्कि अनेक कोरोना उपचार केंद्र पर भी इसका विपरीत असर पड़ा है.वेंटिलेटर पर रखे गए मरीजों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा.

विद्यार्थियों को एक बार फिर परेशानी झेलनी पड़ी

ऑनलाइन परीक्षा दे रहे विद्यार्थियों को एक बार फिर परेशानी झेलनी पड़ी और लोकल ट्रेनों में अनेक यात्री फंसे रहे. राज्य के ऊर्जा मंत्री को 24 घंटे सतर्क रहकर अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए,  लेकिन ऊर्जा मंत्री दूसरे कामों में उलझे रहते हैं. 

आज क्यों हैं चुप

विश्वास पाठक ने कहा कि कोरोना महामारी के शुरुआती दौर में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  5 जुलाई को थोड़ी देर के लिए लाइट बंद रखने की अपील की थी, तब उर्जा मंत्री राउत ने ग्रिड पॉवर के संदर्भ में गलत जानकारी देकर भ्रम फैलाने की कोशिश की थी. आज मंत्री चुप क्यों हैं. पाठक ने मुख्यमंत्री से जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.