Madhya Pradesh: 17 IAS officers transferred including collectors of seven districts

मुंबई.  मुंबई महानगर  रीजन (एमएमआर) की तीन महानगरपालिकाओं में कोराना कंट्रोल करने में फेल होने के कारण 3 आयुक्तों पर तबादले की गाज गिरी है. मुंबई में लंबे प्रयास के बाद कोराना धीरे-धीरे कंट्रोल में आ रहा है, जबकि मुंबई रीजन के नवी मुंबई, उल्हासनगर, मीरा-भायंदर में कोरोना तेजी से पांव पसार रहा है. कोराना कंट्रोल करने के लिए मुंबई की तरह कारगर और कठोर नीति अपनाई जानी चाहिए थी उसे अपनाने में अधिकारी नाकाम रहे. 

तबादला कर दिया गया

नवी मुंबई महानगरपालिका में कोराना का प्रकोप तेजी से बढ़ा है. नवी मुंबई मनपा आयुक्त अण्णा साहेब मिसाल को हटा कर उनकी जगह नागपुर के अतिरिक्त विभागीय आयुक्त अभिजीत बांगर को लाया गया है. इसी तरह  गडचिरोली जिला परिषद के मुख्य अधिकारी डॉ.विजय राठोड को मीरा-भायंदर मनपा का आयुक्त बनाया गया है. मीरा-भायंदर मनपा आयुक्त चंद्रकांत डांगे की नियुक्ति इस पद पर इसी साल 8 फरवरी को की गई थी. साढ़े चार महीने में ही उनका तबादला कर दिया गया.   

 एमएमआर में कोराना का प्रसार तेजी से बढ़ रहा

मुंबई में कोराना मरीजों के साथ मौतों की संख्या में भी कमी आई है. मुंबई में पिछले एक महीने से मरीजों की संख्या प्रतिदिन 1500 से घट कर 1000 पर आ गई है. पिछले 2 सप्ताह से मृतकों की संख्या भी 100 से ऊपर थी जो तेजी से घटने लगी है. मुंबई के विपरीत एमएमआर में कोराना का प्रसार तेजी से बढ़ रहा है.  मुंबई को छोड़ कर पूरे एमएमआर में कोराना संक्रमित मृतकों की संख्या 789 हो गई है. उल्हासनगर में कोरोना  मरीजों का आंकड़ा बढ़ कर 1125 हो गया है और 36 की मौत हो चुकी है. नवी मुंबई मनपा में अब भी प्रतिदिन 100  अधिक कोरोना मरीज मिल रहे हैं. यहां मरीजों की संख्या 4961 और मृतकों की संख्या 168 पर पहुंच गई है. 

अनसुनी कर रहे थे  मनपा आयुक्त 

मीरा-भायंदर में भी कोराना 2387 हो गए हैं. 112 लोगों की मौत हो चुकी है. मुंबई महानगर रीजन में कोरोना रोकने के लिए राज्य सरकार पर बहुत दबाव था. प्लानिंग के अभाव में कोराना मरीजों की वृद्धि से सरकार चिंतित थी. स्थानीय नगरसेवकों, विधायकों की आवाज को मनपा आयुक्त अनसुनी कर रहे थे जिसके लिए क्षेत्र में रोष बढ़ रहा था. कोराना कंट्रोल में विफल रहने के कारण आखिरकार तीन मनपा आयुक्तों का तबादला कर दिया गया. ठाणे में 213, वसई- विरार 89, भिवंडी 92, पनवेल 58, कल्याण-डोंबिवली 77, अंबरनाथ 31, बदलापुर 13, पालघर में 12 मरीजों की मौत कोराना से हो चुकी है. मुंबई में कोराना के सबसे ज्यादा  3737 मरीजों की मौत हुई है. मुंबई महानगर रीजन में  4526 मरीज कोराना वायरस के शिकार बन चुके हैं.  कोराना के मृतकों में पुणे का दूसरा स्थान है. वहां पर अब तक 612 मरीजों की मौत हुई है. महाराष्ट्र में कोराना से मरने वाले मरीजों की कुल संख्या 6283 है जिसमें 70 प्रतिशत मरीज एमएमआर रीजन के हैं.