मलुंड के अस्पताल में आग, 2 कोरोना मरीजों ने तोड़ा दम

  • अन्य मरीज सुरक्षित

मुंबई. सोमवार को मुलुंड के अपैक्स अस्पताल में भीषण आग लग गई. इस हादसे में 2 कोरोना मरीजों की मौत हो गई. समय रहते अन्य मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया जहां मरीजों की हालत स्थिर बताई जा रही है.

मुलुंड स्थित अपैक्स अस्पताल कोरोना मरीजों का इलाज कर रहा है. सोमवार को बिजली जाने के बाद अस्पताल जनरेटर के सहारे चल रहा था कि अचानक शाम 5 बजे के दरम्यान जनरेटर में आग लग गई. इस घटना में 70 वर्षीय पांडुरंग कुलकर्णी की मौत हो गई, जबकि कुल 40 मरीजों में से 12 मरीजों को फोर्टिस अस्पताल में शिफ्ट किया गया है. मंगलवार को फोर्टिस अस्पताल में भर्ती 55 वर्षीय वीरेंद्र सिंह की भी उपचार के दौरान मौत होने की बात फोर्टिस अस्पताल ने कही.

सिंह परिवार परेशान 1 लाख 70 हजार का बिल

वीरेंद्र सिंह को फोर्टिस अस्पताल में शिफ्ट किए 24 घंटे नहीं बीते और उनकी मौत हो गई. अस्पताल ने परिवार को 1 लाख 70 हजार रुपए का बिल थमा दिया. मृतक के बेटे सूरज सिंह ने मीडिया को बताया कि पहले तो उन्हें यही नहीं पता चला कि उनके पिता को कहां शिफ्ट किया गया है. 5 घंटे की भागदौड़ और पूछताछ के बाद पता चला कि पिता फोर्टिस में हैं. सुबह उनकी मौत की खबर मिलने के बाद पार्थिव शरीर लेने जब अस्पताल पहुंचे तो हमें बिल थमा दिया गया. परिवार में बिल को लेकर काफी रोष है.