crops

– कम हो रहा कोरोना का प्रभाव

मुंबई. 3 महीने के बाद मुंबई में कोरोना का प्रभाव कम होने लगा है. 17 मई से कोरोना मरीजों की संख्या रोजाना एक हजार के आंकड़े को पार किया था उसके ठीक एक महीने के उपरांत कोरोना मरीजों का आंकड़ा एक हजार से कम हुआ है. 16 जून को कोरोना के 935  मरीज मिले. रोजाना मरीजों की संख्या में कमी होना सकारात्मक संकेत माना जा सकता है. 

बीएमसी के आंकड़े पर नजर डालने से पता चलता है कि मई के मध्य से कोरोना मरीजों की संख्या भयावह होती चली गई. लॉकडाउन में जब कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से घटनी चाहिए थी कम होने के बजाय विकराल रुप धारण करता चला गया. कोरोना की चेन तोड़ने के उद्देश्य से लॉकडाउन किया गया था, लेकिन कोरोना पर कुछ खास असर नहीं दिखा सका. 

भारतीयों की इम्यूनिटी कारगर साबित हो रही 

इस बीच मुंबई को कुछ शर्तों के साथ अनलॉक कर दिया गया. अनलॉक के बाद कुछ वार्डो  में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी लेकिन जिस वार्ड में कोरोना के मरीज ज्यादा थे वहां कोरोना को कंट्रोल कर लिया गया. बेस्ट की बसों और लोकल ट्रेनों में भीड़ भी हो रही है. सोशल डिस्टेसिंग का सही ढंग से पालन नहीं किए जाने के बाद भी कोरोना मरीजों की संख्या कम होती जा रही है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी भी दी है कि अगस्त में कोरोना चरम पर होगा. लेकिन कोरोना को रोकने में भारतीयों की इम्यूनिटी कारगर साबित हो रही है.  17 मई को कोरोना के 1571 मामले आये थे. तब से मुंबई में प्रतिदिन मरीजों की संख्या 1000 के ऊपर ही रही. 

तारीख         मरीज

20 मई       1372

22 मई       1851 

24 मई       1725 

26 मई       1002

28 मई      1467

30 मई      1510

01 जून      1431

04 जून     1493

06 जून     1274

09 जून     2015

11 जून      1418

13 जून     1380

16 जून     935