स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे (Photo Credits-ANI Twitter)
स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे (Photo Credits-ANI Twitter)

    मुंबई. कोरोना (Corona) की तीसरी लहर (Third Wave) मासूमों पर हावी होने के कयास लगाए जा रहे हैं। ऐसे में उद्धव सरकार ने इस बात को गंभीरता से लेते हुए 14 बाल रोग चिकित्सकों का एक पैनल तैयार किया। इस टास्क फोर्स की अगुवाई डॉ. सुहास प्रभु (Dr. Suhas Prabhu) करेंगे। बच्चों में कोरोना संक्रमण के बचाव के उपायों और उपचार पर बाल रोग विशेषज्ञों का विशेष कार्यबल मार्गदर्शन प्रदान करेगा। इसमें 13 विशेषज्ञ सदस्य हैं और निदेशक चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान इसके सदस्य सचिव हैं।

    राज्य इस समय कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है। कोरोना वायरस में जेनेटिक म्यूटेशन और म्यूटेशन की संभावित तीसरी लहर को छोटे बच्चों में कोरोना संक्रमण की संभावना से जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बच्चों की सुरक्षा और आवश्यक उपचार विधियों को विकसित करने के लिए बाल रोग विशेषज्ञों की एक टास्क फोर्स नियुक्त करने का निर्देश दिया था। रविवार को मुख्यमंत्री ने राज्यभर के बाल रोग विशेषज्ञों के साथ बातचीत की और संभावित तीसरी लहर के मामले में बच्चों के इलाज पर चर्चा की। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे, पुणे, औरंगाबाद और नागपुर के विशेषज्ञों को बच्चों में कोरोना संक्रमण को कम करने के लिए उपचार विकसित करने के लिए विशेष टास्क फोर्स में शामिल किया गया है।

    कौन-कौन है टास्क फोर्स में

    इस टास्क फोर्स में डॉ. विजय येओले, डॉ. बकुल पारेख, डॉ. बेला वर्मा, डॉ. सुधा राव, डॉ. परमानंद अंदकर, डॉ. विनय जोशी, डॉ. सुषमा सावे, डॉ. जितेंद्र गहाणे, डॉ. प्रमोद जोग, डॉ. आरती किन्नीकर, डॉ. ऋषिकेश ठाकरे, डॉ. आकाश बंगा का समावेश है।

    राज्य में 1.73 लाख मासूम संक्रमित

    राज्य में 0 से 10 आयु वर्ग के 1 लाख 73 हजार 60 मासूम कोरोना से संक्रमित हुए हैं, जबकि 11 से 20 आयु वर्ग के 3 लाख 98 हजार 266 किशोर और युवाओं कोरोना की जद में आए हैं। इनमें से सैंकड़ों ने अपनी जान गंवाई है। 

    मुंबई में 43017 संक्रमित

    मुंबई में 0 से 9 वर्षीय 12052 मासूम कोरोना की चपेट में आए हैं, जबकि 10 से 19 आयु वर्ग के 30965 किशोर, किशोरियों को कोरोना ने जकड़ा है। अबतक कुल 71 मासूमों को उक्त बीमारी के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी है।