धनगर समाज को आरक्षण दो

  • गोपीचंद पडलकर ने दी आंदोलन की चेतावनी   

मुंबई. राज्य में मराठा आरक्षण को लेकर शुरु आंदोलन के बीच धनगर समाज भी आरक्षण की मांग को लेकर आक्रामक मूड में है. धनगर समाज के नेता और विधानपरिषद सदस्य गोपीचंद पडलकर ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र  लिख कर आंदोलन की चेतावनी दी है.

 पडलकर ने कहा है कि धनगर समाज पिछले काफी समय से आरक्षण की मांग कर रहा है.कई बार आंदोलन हुए हैं, समाज के लोग सड़क पर उतरते हैं, जेल जाते हैं. लेकिन अभी तक मांग पूरी नहीं हो सकी है. धनगर समाज की मांग रही है कि हमारे बच्चों को अनुसूचित जनजाति (एसटी) का प्रमाणपत्र दिया जाय. यह किस तरह हो सकता है इस संदर्भ में कानून विशेषज्ञों से चर्चा की जाय और आरक्षण का रास्ता साफ किया जाय. लेकिन सरकार इस संदर्भ में ध्यान नहीं दे रही है.

 एक भी बैठक नहीं हुई 

 मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में धनगर समाज के नेता पडलकर ने कहा है कि वर्ष 2019 के नवंबर में महाविकास आघाडी सरकार गठित हुई थी. सितंबर महीना बीत रहा है, धनगर समाज के आरक्षण को लेकर एक भी बैठक नहीं हुई है.अदालत में चल रहे मामले में अच्छा वकील देने के संदर्भ में भी सरकार ने निर्णय नहीं लिया है.कोरोना की वजह से विधानमंडल के मानसून अधिवेशन में हिस्सा लेने का मौका नहीं मिला. जिससे यह मुद्दा उठा नहीं पाया इसका मुझे दुःख है. उन्होंने कहा है कि यदि शीघ्र निर्णय नहीं लिया गया तो आंदोलन निश्चित है.