अर्नब मामले में राज्यपाल कोश्यारी कूदे, सुरक्षा को लेकर गृहमंत्री देशमुख से की बात

मुंबई. रिपब्लिक टीवी चैनल के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को तलोजा जेल शिफ्ट किए जाने के बाद उनकी सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए जा  रहे हैं. ऐसे में अब राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने अर्नब की सुरक्षा को लेकर राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख से बात की है. 

अर्नब ने आरोप लगाया है कि जेल के अंदर उनके मारपीट की गई और उनकी जान को खतरा है. राज्यपाल ने देशमुख से अर्नब की सुरक्षा और स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं.

उन्होंने देशमुख से कहा है कि अर्नब के परिवार वालों को उनसे मिलने की अनुमति दी जाए. अर्नब को इंटीरियर डिजाइनर अन्वय और उनकी मां कुमुद नाइक की आत्महत्या के मामले में 4 नवंबर को गिरफ्तारी किया गया था.

फोन पर परिवार से बात कर सकते हैं अर्नब 

गृहमंत्री अनिल देशमुख ने इस बात की पुष्टि की है रिपब्लिक चैनल के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को लेकर उन्हें राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का फोन आया था. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से पिछले 4 महीनों से राज्य की सभी जेलों में किसी भी कैदी के रिश्तेदारों के मिलने नहीं दिया गया है, क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा है. देशमुख ने कहा कि कोरोना की वजह वजह से अर्नब से  उनका  परिवार जेल में नहीं मिल सकता है, लेकिन वे जेल के फोन पर बात कर सकते हैं. कैदियों को फोन का उपयोग करने की अनुमति है. इसके लिए उन्हें जेल प्रशासन से अनुमति लेनी होगी. उन्होंने कहा कि अर्नब कोरोना संकट के मद्देनजर अपने रिश्तेदारों या वकीलों से व्यक्तिगत रूप से नहीं मिल पाएंगे, लेकिन वे फोन पर बात कर सकते हैं. राज्यपाल कोश्यारी ने गृहमंत्री देशमुख को फोन कर अर्नब के परिवार वालों को उनसे मिलने की अनुमति देने को कहा था. अर्नब की जमानत को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में देशमुख ने कहा कि यह मामला अदालत में लंबित है, इसलिए मैं उस पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकता. उन्होंने कहा कि अर्नब की जमानत के बारे में फैसला कोर्ट लेगी.