मुंबई  में  भारी बारिश, कुर्ला, जोगेश्वरी में गिरा घर, 3 घायल

– कई इलाकों में भरा पानी

मुंबई. गुरुवार सुबह से हो रही जोरदार बारिश के कारण मुंबई के कुर्ला और जोगेश्वरी में घर गिरने की घटना हुई जिसमें 2 महिलाएं घायल हो गई. मौके पर पहुंचे फायर ब्रिगेड के जवानों को मदद के लिए बुलाया गया, लेकिन इससे पहले मलबे में दबे 3 लोगों को स्थानीय लोगों ने  बाहर निकाल कर अस्पताल पहुंचाया. सुबह से ही मुंबई सहित उपनगर में भारी बारिश के कारण कुर्ला पश्चिम स्थित मेहता बिल्डिंग एक हिस्सा भरभरा कर गिर गया. इमारत जर्जर हो चुकी थी और इसका एक हिस्सा जून 2019 में पहले ही गिर चुका था. इस इमारत को खतरनाक घोषित किया गया था. बीएमसी इमारत के निवासियों को घर खाली करने का नोटिस दिया था.  जनवरी महीने में आग लगने के कारण इमारत के निवासी दूसरी जगह शिफ्ट हो गए थे.  इस दुर्घटना में कोई घायल नहीं हुआ. 

जोगेश्वरी पूर्व में दो मंजिला चाल का एक भाग गिरा 

 बरसात के कारण मेघवाड़ी शिवसेना शाखा के पास जोगेश्वरी पूर्व में दोपहर 2 बजे दो मंजिला चाल का एक भाग गिर गया जिसमें सकीरा शेख (22) तौसीफ शेख (28) फातिमा कुरेशी (60) मामूली रुप से घायल हो गई. उन्हें स्थानीय निवासियों ने मलबे से निकल कर कूपर अस्पताल पहुंचाया गया. उपचार के बाद तीनों को छुट्टी दे दी गई. 

भारी बरसात होने की चेतावनी

मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटे के लिए मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बरसात होने की चेतावनी दी है.  बीएमसी के अनुसार शाम तक मनपा मुख्यालय क्षेत्र में 18 मिमी, मांडवी फायर स्टेशन 16 मिमी , मेमनवाडा फायर स्टेशन 14 , मलबार हिल 12 एम एम, कुलाबा 11,  कुर्ला 10, मालवणी 26,  मालाड़ 19, चिंचली 18, कांदिवली 17, बोरीवली 13,  गोरेगांव और दहीसर में 12 मिमी  बरसात दर्ज की गई.  बरसात के कारण मुंबई के गांधी मार्केट सायन, अमर महल चेंबूर सहित कई निचले इलाकों में पानी भर गया.

जल निकासी के लिए मुंबई में लगे 700 पंप 

मुंबई में बरसात के समय निचले इलाकों में होने वाले जल जमाव के कारण यातायात ठप हो जाता है. जल निकासी के लिए  बीएमसी ने  6 पंपिंग स्टेशन बनाए हैं उसके अलावा सड़कों पर जमा पानी निकालने के लिए 700 पंप लगाए गए हैं.  रेलवे, एमएमआरडीए, एमएमआरसी और महानगरपालिका ने भी पंप लगाने में सहयोग दिया है.

 पंपिंग स्टेशन का निर्माण 

मुंबई में मानसून की दस्तक हो गई है. भारी बरसात के कारण मुंबई में जगह जगह पानी भर जाता है. बरसात में जमा पानी निकालने के लिए बीएमसी ने  हाजी अली, लवग्रोव, क्लिव लैंड बंदर, इर्ला, ब्रिटानिया और  गजधरबंध पंपिंग स्टेशन का निर्माण किया है. इन पंपिंग स्टेशनों से प्रति सेकेंड 6 हजार लीटर पानी की निकासी की जाती है. उसके बावजूद मुंबई में कई लो लेवल के क्षेत्र हैं जहां घुटने तक पानी जमा हो जाता है. मुंबई में सबसे अधिक जल जमाव वाले क्षेत्र हिंदमाता में बरसाती पानी निकासी के लिए  नई पाइप लाइन डाला है जिससे इस बार कम पानी जमा होने की संभावना है. मुंबई की सड़कों,  रेलवे लाइनों, मेट्रो रेलवे का होने वाले कार्य के चलते जमा पानी निकासी के लिए  बीएमसी की तरफ से 330 पंप, पश्चिम रेलवे  50 , मध्य रेलवे 72 और एमएमआरडीए के 245 पंप मिलाकर कुल 700 पंप के लगाया गया है.