ST BUS

    मुंबई. लॉकडाउन (Lockdown) के चलते  भारी आर्थिक नुकसान झेल चुकी एसटी (ST) को संकट से उबारने का प्रयास किया जा रहा है। महाराष्ट्र (Maharashtra) की ‘लालपरी’ (Lalpari) कही जाने वाली एसटी की हालत अत्यधिक खराब हो गई है। आलम यह है कि एसटी को ईंधन (Fuel) के लिए भी पैसों की कमी का सामना करना पड़ रहा है। महाराष्ट्र परिवहन विभाग के साथ राज्य परिवहन निगम की आगामी योजनाओं को लेकर एक बैठक परिवहन मंत्री अनिल परब की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस बैठक में  दक्षिण कोरियाई प्रतिनिधिमंडल ने भी भाग लिया ।

    सह्याद्री गेस्ट हाउस में दक्षिण कोरिया के महावाणिज्य दूत के साथ शामिल हुए प्रतिनिधिमंडल के समक्ष प्रस्तुति दी गई। परिवहन मंत्री एड. अनिल परब ने कहा कि सरकार राज्य में परिवहन सेवाओं को मजबूत करने के लिए प्रयास कर रही है। उल्लेखनीय है कि राज्य परिवहन निगम का घाटा काफी बढ़ रहा है। बताया गया है कि पिछले लगभग 1 वर्ष में एसटी को 3 हजार 800 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

    ई-वाहनों को बढ़ावा

    दक्षिण कोरिया पर्यावरण के अनुकूल परिवहन सेवाओं में निवेश के क्षेत्र में महाराष्ट्र को सहयोग करेगा। इलेक्ट्रिक वाहनों के रूप में ऐसी परियोजनाओं को बढ़ावा दिया जाएगा। एड. परब ने कहा कि ट्रांसपोर्ट सेक्टर को अधिक मजबूत बनाया जाएगा। बैठक में मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव और परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष कुमार सिंह, परिवहन आयुक्त अविनाश ढाकने  और संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।