File Photo
File Photo

  • ऑनलाइन चल रहा था गोरखधंधा
  • 4 लड़कियों को छुड़ाया गया

मुंबई. मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है. इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उनके चंगुल से 4 लड़कियों को छुड़ाया गया है. इन लड़कियों को लॉकडाउन से पहले पश्चिम बंगाल एवं यूपी के गोरखपुर से मुंबई में काम दिलाने का झांसा देकर लाया गया था और उन्हें वेश्यावृत्ति के दलदल में धकेल दिया गया.

एस्कॉट सर्विस के नाम पर ऑनलाइन सेक्स रैकेट

पुलिस उपायुक्त (क्राइम) अकबर पठान बताया कि क्राइम ब्रांच यूनिट-8 को वेबसाइट ‘ www.in.locan.to ‘ के जरिए एस्कॉट सर्विस के नाम पर ऑनलाइन सेक्स रैकेट चलने की गुप्त सूचना मिली. प्रभारी पुलिस निरीक्षक अजय जोशी, पुलिस निरीक्षक महेश तोगरवाड, सहायक पुलिस निरीक्षक मनोहर कारंडे एवं सिपाही रविंद्र माने की टीम ने फर्जी ग्राहक बन कर वेबसाइट पर दिए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया. वह शख्स  5 हजार रुपए में कांदिवली के होटल स्प्रिंग में लड़की को भेजने के लिए तैयार हो गया. पुलिस ने होटल स्प्रिंग के आस-पास ट्रैप लगाया. वहां वह शख्स जैसे लड़की के साथ पहुंचा, पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

आरोपी की पहचान रंजीव ठाकुर के रूप में हुई. उससे पूछताछ में पूरे सेक्स रैकेट का पर्दाफाश हुआ. पुलिस ने दहिसर के एक ठिकाने पर छापेमारी कर तीन और लड़कियों को उनके चंगुल से छुड़ाया. पुलिस ने सेक्स रैकेट के सरगना संजय द्वारका मंडल (32), शंभू केशव यादव (39) और आशिष कुमार (24) को गिरफ्तार कर लिया है.