उच्च शिक्षा संस्थान नए साधन अपनाएं

– शिक्षा में ‘नए उपकरण युग’ पर आयोजित वेबिनार में बोले राज्यपाल

मुंबई. उच्च शिक्षा संस्थानों को शिक्षण और सीखने के नए ऑनलाइन साधन अपनाने चाहिए. मुंबई आईआईटी ने भी अपनी कक्षाओं का संचालन ऑनलाइन करने का फैसला किया है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी  रविवार को राजभवन में उच्च शिक्षा संस्थानों में शिक्षकों के लिए ऑनलाइन मंच अकादमी फाउंडेशन द्वारा आयोजित एक वेबिनार के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे. 

वेबिनार का विषय था ‘ऑनलाइन एजुकेशन के लिए नए युग के उपकरण’. उन्होंने कहा कि यदि छात्र परीक्षा में उत्तीर्ण हुए बिना परीक्षा पास कर लेते हैं तो वे खुद से संतुष्ट नहीं होंगे. समय बीतने के साथ कई चीजें बदल रही हैं, लेकिन कुछ चीजें शिक्षण में टिकाऊ होती हैं.

नई तकनीक का उपयोग किया जा सकता है

राज्यपाल ने कहा कि यह विचार करना महत्वपूर्ण है कि क्या ऑनलाइन उपकरण वास्तव में बच्चों को उनके नेत्र और स्वास्थ्य पर बिना विपरीत असर डाले  शिक्षित करने के लिए उपयोगी हैं. एक समग्र दृष्टिकोण होना चाहिए कि क्या नई तकनीक समंजस्यपूर्ण और व्यावहारिक है? राज्यपाल ने विचार व्यक्त किया कि परीक्षा आयोजित करने के लिए नई तकनीक का उपयोग किया जा सकता है. लिखित परीक्षा के लिए कंप्यूटर प्रदान करने पर सोचा जा सकता है.

6,000 से अधिक शिक्षकों ने पंजीकरण कराया था

मुंबई विश्वविद्यालय के प्रबंधन परिषद में शिक्षाविद दीपक कुमार मुकदम ने बैठक में बताया कि तीन दिवसीय वेबिनार के लिए 6,000 से अधिक शिक्षकों ने पंजीकरण कराया था.मुंबई विश्वविद्यालय के उप कुलपति सुहास पेडणेकर, एसएनडीटी महिला विश्वविद्यालय की उप कुलपति शशिकला वंजारी और राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों के उप कुलपति वेबिनार में मौजूद थे.