महिलाओं के लिए हो स्वतंत्र क्वारंटाइन सेंटर

दुष्कर्म की घटना के बाद भाजपा नगरसेविका की मांग 

भायंदर. राज्य में संदिग्ध व कोरोना पॉजिटिव महिला मरीजों के साथ दुष्कर्म की घटनाओं के बाद महिलाओं के लिए स्वतंत्र क्वारंटाइन सेंटर बनाने की मांग उठी है.अभिनेत्री व भाजपा नगरसेविका हेतल परमार ने इस मांग को लेकर महापौर ज्योत्स्ना हसनाले व मनपा आयुक्त डॉ. विजय राठौड़ को पत्र सौंपा है.

परमार ने इसे महिला सुरक्षा मेरी जबावदारी का नारा दिया है और अपनी मांग पर जनता से समर्थन भी चाहा है.उन्होंने कहा कि गोल्डन नेस्ट क्षेत्र के मध्यवर्ती क्वारंटाइन सेंटर में बलात्कार की घटना पहली घटना नहींं है.इस तरह की राज्यभर में कई घटनाएं हो चुकी हैं.इससे हमको सबक लेने की जरुरत है.

ऐसी वारदातों को रोकने तथा महिलाओं की सुरक्षा की दृष्टि से स्वंतत्र क्वारंटाइन सेंटर बनाना जरूरी है. अपने पत्र में परमार ने प्रमुख रूप से चार मांगे रखीं हैं.महिलाओं के लिए अलग क्वारंटाइन सेंटर बने.उसमें सफाई कर्मचारी, सुरक्षा रक्षक, स्वास्थ्य  कर्मचारी सिर्फ महिलाएं हों.सेंटर के पैसेज में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं और उसकी 24 घंटे निगरानी हो.पुलिस द्वारा सभी क्वारंटाइन सेंटर के संविदा(ठेका) कर्मचारियों की कैरेक्टर जांच की जाए.