पक्के घर की जगी उम्मीद

  • बिल्डिंग निर्माण का कार्यादेश जारी

भायंदर. काशीमीरा में 2351 झोपड़ाधारकों को पक्का घर देने की बहुप्रलंबित योजना को गति मिलने वाली है. बिल्डिंग निर्माण का कार्यादेश ठेकेदार को मीरा-भायंदर मनपा ने दे दिया है. 24 महीने में बिल्डिंग का काम पूरा करने की समय सीमा दी गई है.

जनता नगर झोपड़पट्टी की जगह पर बिल्डिंग बनाने का काम केंद्र सरकार की बीएसयूपी योजना के तहत साल 2009 से शुरू हुआ.2351 लाभर्थियों में से अभी तक सिर्फ 179 को घर मिला है.इसमें काफी समय लगा.तब तक यह योजना बंद हो गई.अब राज्य सरकार से पैसा प्राप्त कर इसे पूरा करने का प्रयास जारी है.

4 बिल्डिंगों का काम प्रगति पर

अभियंता यतीन जाधव ने दावा किया कि 1021 फ्लैट वाली 4 बिल्डिंगों का काम प्रगति पर है. हालांकि महापौर ज्योत्स्ना हसनाले ने उनके दावे को गलत बताया. उन्होंने बताया कि ठेकेदारों के बिल का भुगतान बाकी है, इसलिए काम बंद पड़ा है.क्षेत्रीय शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने बताया कि नई बिल्डिंगें बनाने का कार्यादेश नए ठेकेदार को दे दिया गया है. काम की शुरुआत जल्द होगी.इसके लिए निधि देने की गारंटी एमएमआरडीए ने दी है.अभियंता यतीन जाधव ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान ही एमएमआरडीए से करीब 40 करोड़ रुपये इस कार्य के लिए मिल गया था.हालांकि हमने 150 करोड़ रुपये की मांग कर रखी है.सरनाईक ने कहा सत्तापक्ष भाजपा की अड़ंग्गेबाजी से योजना में देरी हुई.वह अपने मनचाहे ठेकदार को ज्यादा लागत पर ठेका देना चाहती थी.मगर स्थाई समिति के इस निर्णय को नगरविकास विभाग (मंत्रालय )ने निरस्त कर दिया.