पुणे में जल्द शुरू होगा अतर्राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय

  • स्पोर्ट्स में महाराष्ट्र बनेगा नंबर वन

मुंबई. खेल के क्षेत्र में महाराष्ट्र (Maharashtra) को टॉप नंबर पर ले जाने के लिए ठाकरे सरकार (Thackeray government) ने अपनी कवायद तेज कर दी है। इसके तहत पुणे में अतर्राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय (International Sports University) की स्थापना की गई है। इस विश्वविद्यालय की घोषणा वर्ष 2020-21 के बजट में की गई थी।

खेल मंत्री सुनील केदार (Sports Minister Sunil Kedar) ने कहा कि इस विधेयक को महाराष्ट्र विधान मंडल के शीतकालीन सत्र (winter session) में पेश किया गया, जहां दोनों सदनों के सदस्यों ने सर्वसम्मति से इसे पास कर दिया। उन्होंने कहा कि इस अंतर्राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय (International Sports University) की स्थापना से महाराष्ट्र के स्पोर्ट्स के स्तर में काफी इजाफा होगा। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर की ट्रेनिंग से खिलाड़ियों में पदक जीतने को लेकर जोश बढ़ेगा।

खेल के साथ रोजगार को बढ़ावा

खेल मंत्री केदार ने कहा कि विश्वविद्यालय की स्थापना के बाद पहले वर्ष में 3 पाठ्यक्रम जैसे खेल विज्ञान, खेल प्रौद्योगिकी और खेल कोचिंग और प्रशिक्षण शुरू किए जाएंगे। इसके लिए प्रत्येक पाठ्यक्रम में 50 छात्रों के प्रवेश की संख्या निर्धारित की गई है। इसके बाद अगले वर्ष में मांग और आवश्यकता के अनुसार अधिक पाठ्यक्रम शुरू किए जाने की योजना है। केदार ने कहा कि इससे शारीरिक शिक्षा, खेल विज्ञान, खेल चिकित्सा, खेल प्रौद्योगिकी, खेल प्रशासन, खेल प्रबंधन, खेल मीडिया और संचार व खेल प्रशिक्षण में रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।  

ओलंपिक खेलों पर ध्यान

खेल मंत्री केदार ने कहा कि कई देश खेल के क्षेत्र में व्यापक दृष्टिकोण रखते हुए स्कूली शिक्षा के साथ-साथ खेलों को महत्व दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि जापान, कोरिया, जर्मनी और न्यूजीलैंड जैसे देश इस दिशा में तेजी से प्रगति कर रहे हैं। इसी तरह महाराष्ट्र में इस स्पोर्ट्स कल्चर को विकसित किया जाएगा, ताकि हमारे खिलाड़ी ओलम्पिक खेल स्पर्धाओं में ज्यादा से ज्यादा पदक जीत सकें। केदार ने कहा कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मैचों में अधिक से अधिक स्वर्ण पदक जीतने के लिए अंतर्राष्ट्रीय कोचों को भी आमंत्रित किया जाएगा।

युवाओं को मौका

खेल मंत्री ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय से महाराष्ट्र के युवाओं को बड़ा मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय के खुलने से युवाओं को खेल प्रदर्शन के अलावा खेल विज्ञान व प्रबंधन में मौके मिलेंगे। वर्ल्ड क्लास ट्रेनिंग मिलने से महाराष्ट्र के खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दूसरे खिलाड़ियों को कड़ी चुनौती पेश कर सकेंगे।  

अलग भवन निर्माण पर 400 करोड़ रुपए होंगे खर्च

खेल मंत्री केदार ने कहा कि वर्तमान में पुणे के बालवाड़ी स्थित शिवछत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स अंतर्राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय को शुरू किया जाएगा। निकट भविष्य में विश्वविद्यालय के लिए एक अलग भवन का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए 400 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि बालवाड़ी के इस स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में वे सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हैं, जो केंद्र सरकार के मानकों को पूरा करता है। आने वाले दिनों में मराठवाड़ा और विदर्भ में भी विश्वविद्यालयों की स्थापना की जाएगी।