Kalanagar Junction flyover

    मुंबई. मुंबई महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण (MMRDA) ने कोरोना (Corona) की विपरित परिस्थितियों में विभिन्न परियोजनाओं का काम जारी रखा है। वर्ली सी लिंक (Worli Sea Link) से बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BKC) को जोड़ने वाले फ्लाईओवर (Flyover) का काम अपने अंतिम चरण में है। मुंबई उपनगर के पालक मंत्री आदित्य ठाकरे की उपस्थिति में कलानगर (Kalanagar) फ्लाईओवर  का आखिरी गर्डर लॉन्च किया गया। बताया गया कि इस बहुउद्देश्यीय  फ्लाईओवर से संबंधित ज्यादातर काम पूरा हो गया है। इस फ्लाईओवर के मई के आखिरी या जून के पहले सप्ताह तक खोले जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

    सी लिंक-बीकेसी फ्लाईओवर 725 मीटर लंबा है जिसमें दो लेन हैं। सिवनी धारावी लिंक रोड (फ्री लेफ्ट) से सी-लिंक की ओर दूसरा फ्लाईओवर नवंबर के अंत तक तैयार होने की उम्मीद है। संबंधित इंफ़्रा कंपनी जनवरी 2020 से कलानगर फ्लाईओवर का निर्माण कार्य कर रही है। इस परियोजना की कुल लागत 103.73 करोड़ रुपये है। 

    परियोजना के तहत तीन फ्लाईओवर प्रस्तावित

    एमएमआरडीए की इस परियोजना के तहत तीन फ्लाईओवर प्रस्तावित किए गए हैं। बीकेसी से वर्ली सी-लिंक तक शुरू होने वाला एक फ्लाईओवर पहले ही वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया है। दूसरा फ्लाईओवर सी-लिंक टू बीकेसी जल्द ही खुलेगा। सी लिंक की ओर तीसरा फ्लाईओवर सायन धारावी नवंबर के अंत तक तैयार होने की उम्मीद है। मेट्रो लाइन 2 बी कार्य के कारण तीसरे फ्लाईओवर का काम प्रभावित हुआ, जिसके परिणामस्वरूप कार्य और परियोजना लागत  में 59.35 करोड़ रुपये की कमी भी आई। पिछली परियोजना लागत 163.08 करोड़ रुपये थी, जिसे घटा कर 103. 73 करोड़ रुपये कर दिया गया है।