कांदिवली के प्रकल्पग्रस्तों को कांदिवली में मिले घर : अतुल भातखलकर

  • प्रकल्पग्रस्त जनता को चेम्बूर और माहुल भेजने को लेकर किया आंदोलन

मुंबई. पोईसर नदी चौड़ीकरण योजना में प्रभावित हो रहे कांदिवली पूर्व के पोईसर, हनुमाननगर परिसर के सैकड़ों झोपड़ीधारकों को चेंबूर और माहुल भेजने और माहुल के झोपड़ीधारकों को मुंबई कांदिवली के परिसर में लाने के अन्यायकारक निर्णय से कांदिवली के सैकड़ों परिवार बेहद परेशान हैं।

कांदिवली की प्रकल्प बाधित जनता ने स्थानीय विधायक से न्याय की गुहार लगाई थी, जिसको लेकर स्थानीय विधायक ने बताया कि यह निर्णय मुंबई के पालकमंत्री आदित्य ठाकरे के दबाव के कारण लिया गया है। इस निर्णय के विरोध में भाजपा मुंबई प्रभारी व विधायक अतुल भातखलकर के नेतृत्व में सांसद गोपाल शेट्टी, विधायक सुनील राणे की प्रमुख उपस्थिति में हनुमान नगर में धरना आंदोलन किया गया।

पालकमंत्री आदित्य ठाकरे के तुगलकी फरमान का विरोध

आंदोलन के दौरान विधायक अतुल भातखलकर ने बताया कि कांदिवली विधानसभा क्षेत्र में करीब 818 पीएपी का घर होने के बावजूद पालकमंत्री आदित्य ठाकरे ने तुगलकी फरमान सुनाते हुए कांदिवली की जनता को चेम्बूर भेजने का निर्णय लिया है, जो बेहद अन्यायपूर्व है। सरकार का यह निर्णय सिर्फ तानाशाही पूर्ण है। इस निर्णय के खिलाफ कांदिवली की जनता के साथ मिलकर स्थानीय विधायक अतुल भातखलकर जनता को न्याय दिलाए जाने तक आंदोलन करने पर मजबूर हैं।

विधायक अतुल भातखलकर ने बताया कि निर्णय वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे स्थित बाल डोंगरी एसआरए प्रोजेक्ट में 100 पीएपी के फ्लैट उपलब्ध हैं, जबकि त्रिवेणी नगर में 64 पीएपी के फ्लैट, अप्पापाड़ा में 584 फ्लैट, संभाजी अकुर्ली रोड पर 50 फ्लैट के अलावा बाल्मीकि हनुमान नगर में 20 पीएपी के फ्लैट उपलब्ध हैं, लेकिन उसके बावजूद कांदिवली की पोइसर नदी प्रभावित जनता को चेम्बूर और माहुल में घर देने की बात सरकार कर रही है। जबकि माहुल के प्रभावित लोगों को कांदिवली में एसआरए फ्लैट देने की बात कर रही है। सरकार आखिर क्यों कांदिवली की प्रभावित जनता को चेम्बूर और माहुल भेज रही है, इसका कारण क्या है।

सत्ता में बैठने के बाद ईमानदारी से काम करना पड़ता है, लेकिन सरकार सिर्फ तानाशाही कर तुगलकी फरमान सुना रही है। सरकार से हमने 2011 तक के लोगों को वैध मानकर उनको घर देने की मांग की है। भातखलकर ने कहा कि आंदोलन हमारा अधिकार है जो हम करते रहेंगे, यह सरकार लातों की भूत है या बातों की भूत है, अगर बातों से नहीं मानी तो हम लात मारकर भगा देंगे।

उत्तर मुंबई में  करेंगे बड़ा आंदोलन : गोपाल शेट्टी

सांसद गोपाल शेट्टी ने बताया कि जब हमारी सरकार थी तो हम उनको मिलकर मना लेते थे, लेकिन अब आघाड़ी सरकार हमारी समस्या नहीं सुनती है तो आने वाले दिनों पूरे उत्तर मुंबई में बड़ा आंदोलन करेंगे, रास्ता रोकेंगे। इससे भी काम नहीं बनता है तो मनपा के अधिकारियों के दफ्तर में घुसेंगे और जनता को न्याय दिलाएंगे।