केईएम को मिली कोरोना वैक्सीन

  • एक सप्ताह बाद शुरू होगा वैक्सीनेशन

सूरज पांडेय 

मुंबई. मुंबई में होने वाले कोविड वैक्सीन के ट्रायल का इंतजार लगभग खत्म हो चुका है. मनपा के केईएम अस्पताल को कोरोना की वैक्सीन मिल गई है. अस्पताल की माने तो वे ट्रायल के लिए अन्य सभी तैयारियों में लगे हुए हैं. संभवतः एक सप्ताह में वालंटियर्स को वैक्सीनेट करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

इंडियन कॉउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित की गई वैक्सीन का ट्रायल करने के लिए देशभर से 10 मेडिकल संस्थानों का चयन किया गया है. उक्त संस्थानों में से मनपा के केईएम और नायर अस्पताल का भी सामवेश है. वैक्सीन बनाने वाली पुणे की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा केईएम अस्पताल में 160 लोगों पर वैक्सीन का ट्रायल किया जाएगा. ट्रायल में 20 से 50 की उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी जो वायरस से संक्रमित नहीं हुए हैं. 

ट्रायल की प्रक्रिया शुरू हो चुकी

केईएम अस्पताल के डीन डॉ. हेमंत देशमुख ने नवभारत को बताया कि अस्पताल में ट्रायल की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. वालंटियर्स का चयन, उसके बाद उनकी स्क्रीनिंग करना, आरटीपीसीआर और एंटीबाडी टेस्ट का रिजल्ट निगेटिव आना अनिवार्य है, उसके बाद वैक्सीनेट करने के लिए रूम की भी आवश्यकता होगी और उसे भी सेनिटाइज करना होगा. यह सब प्रक्रिया पूरी होने में एक सप्ताह का समय लग सकता है. हमें वैक्सीन मिल गई है. बस उक्त प्रक्रिया पूर्ण होते ही हम वैक्सीनेशन शुरू कर देंगे. 

नायर अस्पताल में भी तैयारी

वहीं, मनपा के नायर अस्पताल को अभी तक वैक्सीन नहीं मिली है.अस्पताल के डीन डॉ. रमेश भारमल ने बताया कि हमें अभी तक वैक्सीन नहीं मिली है. अब क्या कारण यह पता नहीं, लेकिन हम भी सभी तैयारी कर रहे हैं. वैक्सीन न मिलने को लेकर सीरम इंस्टीट्यूट के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त बताया कि बीच में ट्रायल को रोक दिया गया था. उसके बाद कंपनी को ट्रायल शुरू करने के लिए कई प्रक्रिया से गुजरना पड़ा. जल्द ही मुंबई को ट्रायल के लिए वैक्सीन दी जाएगी.

सीरम को मिला फार्मूला

ऑक्सफोर्ड द्वारा विकसित की गई वैक्सीन का फार्मूला पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट को दिया गया है. सीरम इंस्टीट्यूट के अधिकारी ने बताया कि हमारे साथ वैक्सीन का फॉर्मूला साझा किया गया है. फार्मूला और हमारे पास उपलब्ध टेक्नोलॉजी की मदद से हम अपने इंस्टीट्यूट में वैक्सीन बना रहे हैं.