किरीट सोमैया हिरासत में, कुछ देर बाद रिहा

  • शीतल दामा के परिवार वालों को न्याय दिलाने का मामला

मुंबई. घाटकोपर असल्फा की शीतल दामा की नाले में बह कर हुई मौत के मामले में परिवार वालों को न्याय दिलाने की मांग करते हुए पूर्व भाजपा सांसद किरीट सोमैया ने गुरुवार को घाटकोपर चिरागनगर पुलिस स्टेशन पर धरना दिया. उन्होंने इस हादसे में संबंधित अधिकारियों पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया और मामला दर्ज करने की मांग की. इस दरम्यान सोमैया ने लालबहादुर शास्त्री मार्ग को बंद करने की कोशिश की जिस पर पुलिस ने सोमैया को तत्काल सड़क पर से हटाया और उन्हें पुलिस स्टेशन ले आई.

हालांकि सोमैया के आंदोलन के समय पुलिस का कोई भी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद नहीं था जबकि उनके साथ बड़ी संख्या में भाजपा के कार्यकर्ता उपस्थित थे. सोमैया ने बताया कि शीतल दामा की मौत हुए 12 दिन से ज्यादा हो चुके हैं पर लेकिन पुलिस ने अभी तक किसी पर कोई मामला नहीं दर्ज किया है ना ही किसी की जबाबदारी तय की गई है. उनकी मांग है कि इस मामले में मनपा अधिकारियों पर आपराधिक हत्या का मामला दर्ज किया जाना चाहिए.

सोमैया ने आरोप लगाया कि पुलिस मनपा अधिकारियों को बचा रही है और राज्य सरकार के दबाव में कार्यवाई नही हो रही है, जबकि महिला की मौत लापरवाही की वजह से गटर में गिर कर हुई. याद रहे कि पिछले दिनों सोमैया ने मुंबई के पुलिस कमिश्नर से मुलाकात कर जिम्मेदार पराधियों को बुक करने की मांग की ठिया और अगले ही दिन मौका-ए-वारदात पर जाकर नाले में उतरकर जायजा लिया था.