सभी के लिए जल्द शुरू होगी लोकल

  • राज्य सरकार का हाईकोर्ट को जवाब
  • लोकल ट्रेन चलाने में आपत्ति नहीं

मुंबई. महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार को बॉम्बे हाईकोर्ट को जवाब देते हुए कहा कि मुंबई में सभी के लिए लोकल ट्रेन चलाने को लेकर कोई आपत्ति नहीं है, बशर्ते सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क आदि नियमों का पालन हो. हाईकोर्ट में राज्य सरकार के जवाब से मुंबई में जल्द ही सभी लोगों के लिए लोकल शुरू होने के रास्ता साफ हो गया है. 

कोविड-19 महामारी के कारण लोकल ट्रेन सेवाओं का सीमित संचालन हो रहा है. केवल अत्यावश्यक सेवा में लगे कर्मचारियों के लिए लोकल चल रही है.

“कोरोना वायरस जल्द जाने वाला नहीं है” 

राज्य सरकार के महाधिवक्ता आशुतोष कुम्भकोनी ने शुक्रवार को मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति जीएस कुलकर्णी की खंडपीठ को बताया कि ट्रेनों के फेरे बढ़ाने और सेवाओं को सभी के लिए खोलने पर राज्य सरकार को कोई आपत्ति नहीं है. कुम्भकोनी ने कहा कि कोरोना वायरस जल्द जाने वाला नहीं है, इसलिए सभी लोगों को सतर्क रहना होगा. पिछले हफ्ते वकीलों की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा था कि आम लोगों के लिए लोकल कब शुरू हो रही है.

सब खुल रहा है तो लोकल क्यों नहीं?

इस मामले में केंद्र सरकार ने भी लोकल चलाने का निर्णय राज्य सरकार पर डाल दिया था. इधर मुंबई में अनलॉक का निर्णय होने के बाद लोकल भी सभी के लिए शुरू किए जाने का दबाव बढ़ता जा रहा है. शुक्रवार को हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता कुम्भकोनी ने अदालत को बताया कि सरकार रेलवे को पत्र लिखकर फेरियां बढ़ाए जाने का पहले ही अनुरोध कर चुकी है. उन्होंने यह भी बताया कि यह प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा गया था. हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने कहा था कि हर क्षेत्र अब खुल रहा है और ऐसे में लोकल ट्रेन की मांग भी बढ़ रही है, इसलिए राज्य सरकार और रेलवे को मांग को देखते हुए सभी के लिए फेरे बढ़ाने चाहिए.

15 अक्टूबर से लोकल शुरू!

पिछले सप्ताह में ही 15 अक्टूबर से सभी के लिए लोकल शुरू किए जाने का संकेत मुंबई उपनगर के पालक मंत्री आदित्य ठाकरे ने दिया था. साढ़े 6 माह से बंद मुंबई लोकल को सभी के लिए शुरू किए जाने की मांग पर पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा था कि 15 अक्टूबर से आम लोगों के लिए लोकल शुरू किए जाने पर सरकार विचार कर रही है. आदित्य ठाकरे के अनुसार सभी के लिए लोकल शुरू करने के पहले ऑफिस टाइमिंग में बदलाव पर भी विचार शुरू है. मुंबई की लाइफलाइन कही जाने वाली मुंबई लोकल 22 मार्च से आम लोगों के लिए बंद है जबकि अत्यावश्यक कर्मचारियों के लिए मध्य,पश्चिम और हार्बर पर सीमित संख्या में विशेष लोकल चलाई जा रही है.