corona
Representative Image

    मुंबई. राज्य में आई कोरोना (Corona) की दूसरी लहर (Second Wave) इतनी प्रचंड थी कि महज 3 महीने में पहली लहर से अधिक लोग संक्रमित (Infected) हुए हैं, लेकिन अब महाराष्ट्र रिकवरी मोड (Recovery Mode) पर है। महज 30 में राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 53 फीसदी कम हुई है।

    स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों का आंकलन करें तो 26 अप्रैल को राज्य में 6 लाख 74 हजार 770 एक्टिव मरीज थे। मरीजों की संख्या इतनी अधिक थी कि मरीजों के लिए आईसीयू बेड्स, ऑक्सीजन, रेमडेसिविर दवाई तक की किल्लत पड़ गई थी, जबकि 25 मई तक मरीजों की संख्या कम हो कर 3 लाख 14 हजार 363 तक पहुंच गई है। महज 30 दिन मरीजों की संख्या आधी से भी कम हो गई है। 

    नए केसेस से ज्यादा रिकवरी 

    राज्य स्वास्थ्य विभाग के सर्विलांस ऑफिसर डॉ. प्रदीप आवते ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में राज्य में नए केसेस से ज्यादा रिकवरी हो रही है। काफी लोग 10 दिन से 14 दिन के भीतर ठीक हो कर घर लौट रहे हैं। यानी जो क्वारंटाइन की अवधि उसे पूर्ण कर लोग घर लौट रहे हैं। मरीज के स्वास्थ्य को देखते हुए लाइन ऑफ ट्रीटमेंट का चयन कर उनका उपचार किया जा रहा है। नतीजतन रिकवरी अच्छी है।

    मुंबई में 61% कम हुए एक्टिव मरीज

    मुंबईकर भी कोरोना को मात देने में काफी आगे चल रहे हैं। पिछले 30 दिनों में एक्टिव मरीजों की संख्या में 61 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। 26 अप्रैल को शहर में एक्टिव मरीजों की संख्या 70,373 तक पहुंच गई थी, लेकिन 25 मई तक एक्टिव मरीजों की संख्या लुढकर 27,649 तक पहुंच गई है।

    रिकवरी रेट 90% के पार

    • मुंबई सहित महाराष्ट्र की रिकवरी रेट 90 प्रतिशत के पार चली गई है। 
    • राज्य में अबतक 56,26,155 लोग संक्रमित हुए हैं, जिसमें से 52,18,768 लोग रिकवर हो चुके हैं, जबकि 90,349 लोगों की मृत्यु हुई है। फिलहाल राज्य का रिकवरी रेट 92.76 प्रतिशत हो गया है।
    • मुंबई में अब तक 699904 लोग संक्रमित हुए हैं, जिसमें से 655425 लोग रिकवर हो चुके हैं, जबकि 14708 लोगों की बीमारी के कारण मौत हुई है। फिलहाल मुंबई का रिकवरी रेट 94 प्रतिशत है।

    राज्य में लॉकडाउन का निर्णय सही समय पर लिया गया अन्यथा परिस्थिति कुछ और होती। हमने टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट पर बहुत अधिक जोर दिया और अब भी दे रहे हैं। एक समय रोजाना 60 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे थे, लेकिन अब नए संक्रमितों की संख्या 25 हजार से भी कम हो गई है। यह अच्छे संकेत है कि कोरोना अब कंट्रोल में आ रहा है।

    -डॉ. प्रदीप आवते, स्टेट सर्विलांस ऑफिसर