कोरोना को मात देकर अस्पताल से घर पहुंची महापौर

मुंबई. महापौर किशोरी पेडणेकर ने रविवार को कोरोना पर मात देकर अस्पताल से अपने घर पहुंची. किशोरी पेडणेकर 10 सितंबर को कोरोना से संक्रमित हो गई थी. उन्होंने अपने ट्विटर एकाउंट से संक्रमित होने की जानकारी दी थी. डॉक्टरों ने उन्हें होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी थी, लेकिन सांस लेने में परेशानी के कारण उन्हें सेवनहिल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 10 दिन बाद उनकी तबीयत में सुधार आने के बाद उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया. 

कोरोना की शुरुआत से ही महपौर लगातार एक्टिव रही हैं. कई बार पीपीई किट पहन कर विभिन्न अस्पतालों का दौरा किया था. उनकी 3 बार कोरोना जांच हुई थी, लेकिन रिपोर्ट निगेटिव आई थी. 10 सितंबर को कोरोना का लक्षण नजर आने के बाद फिर से जांच की गई जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. 

याद रहे कि महापौर के खिलाफ बीजेपी ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है जिसका उन्हें सामना करना है. 28 सितंबर को बीएमसी सभागृह की बैठक आयोजित की गई है. बैठक में महापौर का उपस्थित रहना जरुरी होता है. बीजेपी के अविश्वास प्रस्ताव का जवाब देने के लिए महापौर को विरोधी पक्ष के सदस्यों को भी मनाना भी होगा क्योंकि विकास फंड आवंटन को लेकर कांग्रेस, राकांपा और समाजवादी पार्टी के नगरसेवक नाराज हैं. अविश्वास प्रस्ताव जीतने के लिए इन सबकी मनुहार करनी होगी.