कोरोना योद्धा की तरह डटी मध्य रेल की मेडिकल टीम

  • सोलापुर अस्पताल में रोबोट की मदद से इलाज

मुंबई. कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में मध्य रेल की मेडिकल टीम योद्धा की तरह काम कर रही है.कोरोना महामारी से लड़ने के लिए मध्य रेल के मुंबई,नागपुर, भुसावल,पुणे और सोलापुर अस्पतालों में मरीजों की देखभाल के लिए डॉक्टरों और पैरा-मेडिकल स्टाफ,चिकित्सा अधिकारियों,नर्सिंग सिस्टर और अन्य तकनीशियनों की अनुबंध के आधार पर नियुक्ति की गई है.

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रशिक्षण वेंटिलेटर कार्यशाला,पीपीई की डोनिंग और डॉफिंग,संक्रमण रोकथाम और नियंत्रण के उपाय,प्रबंधन के लिए प्रोटोकॉल सहित कई प्रशिक्षण आयोजित किये गए.डॉ बाबासाहेब आंबेडकर मेमोरियल अस्पताल, कल्याण, भुसावल, पुणे, नागपुर और सोलापुर के मंडल रेल अस्पतालों में काम करने वाले डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ की टीम लगी है.अस्पताल के डॉक्टरों और पैरामेडिक्स को प्रशिक्षित किया गया है,ताकि सभी प्रकार के रोगियों की देखभाल हो सके.डॉ कोटनिस मेमोरियल रेलवे अस्पताल, सोलापुर में कार्यरत चिकित्सा कर्मचारियों की सहायता के लिए एक अभिनव चिकित्सा सहायक (आरओ) बीओटी रोबोट बनाया गया है.इस रोबोट के माध्यम से स्वचालित रूप से हैंड सैनिटाइजर,मरीज की थर्मल स्क्रीनिंग,ऑक्सीजन जांच के लिए पल्स ऑक्सीमीटर करता है.

सोलापुर मंडल ने किया विकसित 

डॉक्टर और मरीज का दो-तरफ़ा वीडियो संचार होता है, और रोबोट को डॉक्टर के कमरे से रिमोट एक्सेस की सुविधा मिलती है.इसमें दवाई और आवश्यक सामान ले जाने के लिए एक ट्रे भी है. इस चिकित्सा सहायक (रोबोट) सोलापुर मंडल ने विकसित किया गया है.सीपीआरओ शिवाजी सुतार के अनुसार मध्य रेल के सभी अस्पतालों में साफ सफाई एवं सेनेटाइज का काम निरंतर किया जा रहा है.