मीरा- भायंदर की प्यास बुझाने नेता एक्टिव, उप मुख्यमंत्री से मिले डॉ. शेख

  • MIDC से पुनः 25 MLD पानी का आश्वासन

भायंदर. मीरा- भायंदर क्षेत्र में विकराल होती पानी समस्या को लेकर क्षेत्र के नेता सक्रिय हो गए हैं.इसी क्रम में मंगलवार को पूर्व राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त व मनपा में विरोधी पक्ष नेता डॉ. आसिफ शेख ने उप मुख्यमंत्री अजीत पवार से मंत्रालय में मुलाकात कर उन्हें क्षेत्र की पानी समस्या से अवगत कराया, साथ ही एक पत्र भी सौंपा.

उपमुख्यमंत्री ने अजीत पवार ने पानी समस्या को देखते हुए मीरा- भायंदर को एमआईडीसी से 25 एमएलडी पानी वापस दिलाने का आश्वासन दिया. डॉ. शेख ने उपमुख्यमंत्री पवार से एमआईडीसी द्वारा बंद 25 एमएलडी पानी फिर से शुरू करके लोगों को राहत देने की मांंग की. उल्लेखनीय है कि मीरा- भायंदर को एमआईडीसी सेे 125 एमएलडी और स्टेम प्राधिकरण से 86 एमएलडी मिलाकर कुल 211 एमएलडी पानी प्रतिदिन मंंजूर है.जहांं स्टेम प्राधिकरण से 86 एमएलडी पानी मिल रहा है, वहीं एमआईडीसी से 95 एमएलडी पानी मिल रहा है.

सरकार के आदेशानुसार 125 एमएलडी पानी एमआईडीसी को देना जरूरी है लेकिन पिछले चार माह से एमआईडीसी ने 25 एमएलडी पानी यह कहकर बंद कर दिया है कि वह 25 एमएलडी पानी अस्थायी रूप से दिया जा रहा था उसे स्थायी रूप से देने का कोई आदेश नहीं है. ऐसी स्थिति में मीरा- भायंदर के लोगों को 60 घंटे से ज्यादा अंतराल पर पानी मिल रहा है. पानी कम मिलने के कारण लोगों को  टैंकर का सहारा लेना पड़ रहा है. बताया जाता है कि टैंकर माफियाओं के दबाव में क्षेत्र की पानी समस्या का समाधान नहींं हो पा रहा है.