एलईडी लाइट्स से रोशन होगा मीरा-भायंदर

  • बदली जाएंगी स्ट्रीट लाइट्स 
  • बिजली और बिल दोनों की होगी बचत 

अनिल चौहान

भायंदर. सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो मीरा-भायंदर आने वाले दिनों में एलईडी लाइट्स की दूधिया रोशनी से नहा उठेगा. स्ट्रीट्स लाइट्स पोल पर लगी बल्ब लाइट्स को हटाकर एलईडी लाइट्स लगाने का निश्चय मीरा-भायंदर मनपा ने किया है.

महापौर ज्योत्स्ना हसनाले ने बताया कि गत दिनों अडानी इलेक्ट्रिसिटी अधिकारियों साथ हुई बैठक में पुरानी बल्ब लाइट्स बदलने का निश्चय हुआ. उसकी जगह एलईडी लाइट्स लगाई जाएंगी. 

बिजली की खपत कम होगी

25 सितंबर को उनकी अध्यक्षता में सर्वदलीय गुट नेताओं के साथ बैठक होनी है, जिसमें एलईडी लाइट्स लगाने का निर्णय ले लिया जाएगा. उसके बाद बाद एलईडी लाइट्स लगाने के काम की शुरुआत होगी. शायद इसमें कुछ दिन लगे. महापौर ने कहा कि ऐसा होने से बिजली की खपत कम होगी. नतीजतन बिल भी कम आएगा.महापौर ने कहा कि आगे से लगाई जाने वाली स्ट्रीट लाइट्स एलईडी की ही होंगी. 

 बंद पड़ी स्ट्रीट लाइट्स में से 750 चालू 

महापौर ने बताया कि शहर में कुल 16970 स्ट्रीट लाइट्स हैं.इनमें से करीब 1200 के बंद होने की शिकायतें मिलीं थी. इसे चालू करने का निर्देश अडानी इलेक्ट्रिसिटी के अधिकारी कैलास शिंदे को दिया गया था. 15 से 21 सितंबर के बीच 750 स्ट्रीट लाइट्स चालू कर दी गईं हैं. मेट्रो मार्ग निर्माण के चलते भायंदर-काशीमीरा मार्ग की बंद पड़ी स्ट्रीट्स लाइट्स को चालू करने के काम की शुरुआत हो चुकी है.

आदिवासी बस्तियां, संकरी गलियां भी जगमगाएंगी 

महापौर ने बताया कि शहर की जिन आदिवासी पाड़ा (बस्तियों) में आजादी के बाद से अब तक बिजली नहीं पहुंची है तथा झोपड़पट्टियों की 3 फीट से कम चौड़ी गलियों में स्ट्रीट लाइट्स नहीं लगी हैं, क्रमशः वहां बिजली पहुंचाने, स्ट्रीट लाइट्स लगाने का उनका प्रयास है. शुकवार को विद्युत अधिकारी उनके वार्ड में विजिट करने वाले हैं.जिसके बाद संकरी गलियों में स्ट्रीट लाइट्स लगाने की तरकीब ढूंढी  जाएगी.