One more death from Kovid-19 in Jammu and Kashmir, death toll 54

  • देश में 1.65 और राज्य में 2.8 फीसदी
  • अब तक 505 लोगों ने गंवाई जान

भायंदर. मीरा-भायंदर में तेजी से बढ़ रही कोरोना मृत्यु दर को रोकने के लिए प्रशासन ने जरूरी कदम उठाये हैं. प्रशासन ने 20 आईसीयू और 40 वेंटिलेटर बेड बनाने का निर्णय किया है.इस आशय की जानकारी शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने पत्रकारों से बातचीत में दी.

मीरा-भायंदर में कोरोना से होने वाली औसत मृत्यु दर देश में सबसे अधिक 3.12 फीसदी है.यह मृत्यु दर देश में 1.65 फीसदी और राज्य में 2.8 फीसदी है. मीरा-भायंदर में अब तक 16211पॉजिटिव मरीज मिले हैं. इनमें से 13742 ठीक हो चुके हैं.जबकि 1964 एक्टिव केस हैं.अब तक 505 मरीजों की मौत हो चुकी है.

कोरोना मृत्यु दर रोकने 60 नए वेंटिलेटर बेड

गुरुवार को एक दिन में सर्वाधिक10 मौतें हुई थीं.वेंटिलेटर और ऑक्सीजन बेड मरीज को समय पर न मिल पाने के कारण भी मौत हो जाने की एक वजह मानी जा रही है. बढ़ती मृत्यु दर को लेकर शनिवार को सरनाईक ने मनपा कमिश्नर डॉ. विजय राठौड से मुलाकात कर चर्चा की. सरनाईक ने बताया कि 8 से 10 दिन के भीतर धर्माधिकारी हॉल में नए 60 बेड बना दिये जायेंगे. इनमें 40 ऑक्सीजन और 20 वेंटिलेटर बेड होंगे.